छत्तीसगढ़

शरद पवार ने एक बार फिर की विपक्षी एकता की वकालत, बताया कैसे 2024 लोकसभा चुनाव साथ लड़ सकते हैं



एनसीपी प्रमुख ने कहा कि बीजेपी ने महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, कर्नाटक में विधायकों को तोड़ने के लिए अकूत धन, सीबीआई और ईडी का दुरुपयोग किया। यही कोशिश झारखंड में की जा रही है। बीजेपी की ये एक नीति हो गई है और देश भर में इसी तरह का काम कर रही है।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

Engagement: 0

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के प्रमुख शरद पवार ने एक बार फिर 2024 के लोकसभा चुनाव के लिए विपक्षी दलों के एकजुट होने की वकालत की है। दिल्ली में पवार कहा कि विपक्ष को एक साथ आना चाहिए और कॉमन मिनिमम प्रोग्राम के तहत एक साथ चुनाव लड़ने पर विचार कर सकते हैं। साथ ही उन्होंने केंद्र की बीजेपी सरकार की नीतियों पर भी हमला किया।

उन्होंने कहा कि मौजूदा सरकार के सामने सभी विपक्षी पार्टियों को एकजुट होना चाहिए। अगले चुनाव में विपक्ष की एकता की जरूरत है, कॉमन मिनिमम प्रोग्राम के आधार पर चुनाव लड़ना चाहिए। बीजेपी का मकसद केवल छोटे दलों को सत्ता से बाहर करना है। नीतीश कुमार ने बीजेपी का साथ छोड़ा और अलग सरकार बनाई इसका मैं स्वागत करता हूं।

एनसीपी प्रमुख ने कहा कि बीजेपी ने महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, कर्नाटक में विधायकों को तोड़ने के लिए पैसे, सीबीआई और ईडी का दुरुपयोग किया है। यही कोशिश झारखंड में की जा रही है। बीजेपी की ये एक नीति हो गई है कि देश भर में इसी तरह का काम कर रही है। साथ ही उन्होंने केंद्र सरकार और उसकी नीतियों पर भी हमला किया। उन्होंने कहा कि सरकार ने 2014 में किये वादों को पूरा नहीं किया है।

हालांकि यह पहली बार नहीं है ज0ब विपक्ष को एकजुट करने की कोशिश हो रही हो, इससे पहले भी कई ऐसे मौके आए जब विपक्षी पार्टियों के नेताओं नें एक साथ आने की कोशिश की है। खुद शरद पवार भी कई मौकों पर सभी विपक्षी दलों से बीजेपी के खिलाफ एकजुट होने और साथ लड़ने की अपील कर चुके हैं।




Source link