छत्तीसगढ़

‘भारत जोड़ो यात्रा’ का हिस्सा बन रहे देश के बेरोजगार युवा, मोदी सरकार को दे रहे संदेश, दिखा रहे आईना!



क्या कहते हैं CMIE के आंकड़े?

एक हफ्ते पहले आए सेंटर फॉर मॉनिटरिंग इंडियन इकनॉमी (सीएमआईई) के आंकड़ों के अनुसार, जुलाई में बेरोजगारी दर 6.8 प्रतिशत थी तथा रोजगार 39.7 करोड़ था। सीएमआईई के प्रबंध निदेशक महेश व्यास ने कहा, ‘देश में शहरी बेरोजगारी दर अगस्त में बढ़कर 9.57% पर पहुंच गई, जो जुलाई के महीने में 8.20% पर थी। ऐसे में शहरी क्षेत्रों की बेरोजगारी दर में 1.37% का इजाफा हुआ है। इसी तरह ग्रामीण क्षेत्रों में बेरोजगारी दर में इजाफा देखने को मिली है। जुलाई में ग्रमीण बेरोजगारी की दर 6.14% थी, जो अगस्त में 1.54% की बढ़ोतरी के साथ 7.68% पर पहुंच गई है। भले ही देश की बेरोजगारी दर 8.28% है।

सीएमआईई की रिपोर्ट के मुताबिक बीजेपी शासित राज्य का सबसे बुरा हाल है। हरियाणा की बात करें तो राज्य में 37.3 प्रतिशत की बेरोजगार दर के साथ सबसे खराब स्थिति में हैं।

आंकड़ों के अनुसार, अगस्त के दौरान हरियाणा में सबसे ज्यादा 37.3 प्रतिशत बेरोजगारी थी। इसके बाद जम्मू-कश्मीर में बेरोजगारी दर 32.8 प्रतिशत, राजस्थान में 31.4 प्रतिशत, झारखंड में 17.3 प्रतिशत और त्रिपुरा में 16.3 प्रतिशत थी। आंकड़ों से पता चलता है कि छत्तीसगढ़ में बेरोजगारी दर सबसे कम 0.4 प्रतिशत, मेघालय में दो प्रतिशत, महाराष्ट्र में 2.2 प्रतिशत और गुजरात तथा ओडिशा में 2.6 प्रतिशत रही।



Source link