शिक्षा

डीयू एकेडमिक काउंसिल ने चार साल के अंडरग्रेजुएट प्रोग्राम के दूसरे सेमेस्टर के सिलेबस को मंजूरी दे दी है



दिल्ली विश्वविद्यालय की अकादमिक परिषद ने मंगलवार को अंडरग्रेजुएट करिकुलम फ्रेमवर्क पर आधारित चार वर्षीय स्नातक कार्यक्रमों के दूसरे सेमेस्टर के पाठ्यक्रम को मंजूरी दे दी।

बैठक के दौरान इस संबंध में प्रस्ताव रखे गए।

परिषद ने बीए बिजनेस इकोनॉमिक्स (ऑनर्स), बीए मल्टी-मीडिया और मास कम्युनिकेशन (ऑनर्स), बीएससी इलेक्ट्रॉनिक साइंस (ऑनर्स) और बीएससी माइक्रोबायोलॉजी (ऑनर्स) सहित 100 स्नातक पाठ्यक्रमों के पाठ्यक्रम पर चर्चा की।

परिषद के एक सदस्य ने कहा, “अकादमिक परिषद ने स्नातक पाठ्यक्रमों के दूसरे सेमेस्टर के पाठ्यक्रम को मंजूरी दे दी है।”

इस मामले को अब विश्वविद्यालय की कार्यकारी परिषद, इसकी शीर्ष निर्णय लेने वाली संस्था द्वारा उठाया जाएगा।

विश्वविद्यालय ने पहले केवल प्रथम वर्ष के पाठ्यक्रम को मंजूरी दी थी।

कार्यकारी परिषद द्वारा फरवरी में एक राष्ट्रीय शिक्षा नीति प्रकोष्ठ द्वारा तैयार किए गए अंडरग्रेजुएट करिकुलम फ्रेमवर्क-2022 को मंजूरी देने के बाद 2022-23 शैक्षणिक वर्ष से एक नया पाठ्यक्रम लागू किया गया है।

प्रथम सेमेस्टर की कक्षाएं 2 नवंबर से शुरू हुईं और मार्च में समाप्त होंगी। दूसरे सेमेस्टर की कक्षाएं मार्च में शुरू होंगी और जुलाई तक चलेंगी।

परिषद ने अगले तीन वर्षों के लिए प्रत्येक वर्ष अतिरिक्त 12 अर्जित अवकाशों को भी मंजूरी दी है।

यह कहानी वायर एजेंसी फीड से पाठ में बिना किसी संशोधन के प्रकाशित की गई है। सिर्फ हेडलाइन बदली गई है।



Source link