छत्तीसगढ़

अयोध्या में आज होने वाली कुश्ती संघ की बैठक रद्द, खेल मंत्रालय ने लगाई थी रोक, क्या थी बृजभूषण की तैयारी?



क्या है पूरा मामला?

18 जनवरी को पहलवान विनेश फोगाट, बजरंग पूनिया, साक्षी मलिक समेत करीब 30 पहलवान दिल्ली के जंतर-मंतर पर भारतीय कुश्ती संघ के खिलाफ धरने पर बैठ गए थे। बाद में इस प्रदर्शन में 200 से ज्यादा खिलाड़ी शामिल हो गए थे। उन्होंने कुश्ती संघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह और कुछ कोच पर ओलिंपिक विजेता खिलाड़ियों ने यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया। पहलवानों ने WFI अध्यक्ष से इस्तीफा देने की मांग की। 

पहलवान विनेश फोगाट ने कहा था कि हमारे आरोप सच्चे हैं। हमें मजबूर न किया जाए सबसे सामने आने के लिए। हम अपने सम्मान के लिए लड़ रहे हैं। हम पूरे देश को यह नहीं बताना चाहते कि देश की बेटियों के साथ क्या हुआ है। जिस दिन सारी लड़कियां मीडिया को बताएंगी कि हमारे साथ क्या हुआ, वह कुश्ती का दुर्भाग्य होगा। उन्होंने कहा था कि अगर मांग नहीं मानी गई तो इन लड़कियों के साथ एफआईआर कराएंगे और WFI अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह को जेल भिजवाएंगे।



Source link