छत्तीसगढ़

आश्वासन पर पहलवानों का धरना खत्म, इन बातों पर बनी सहमति, जांच पूरी होने तक संघ के काम से दूर रहेंगे बृजभूषण



बता दें कि ओलंपियन पहलवान विनेश फोगाट ने भारतीय कुश्ती महासंघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह पर गंभीर आरोप लगाते हुए बुधवार को कहा था कि उन्होंने महिला पहलवानों का यौन उत्पीड़न किया। विनेश ने कहा कि वह बृजभूषण शरण सिंह द्वारा मानसिक उत्पीड़न की पीड़ित थीं। विनेश ने कहा कि उन्होंने आत्महत्या पर विचार किया था।

उन्होंने कहा था, “डब्ल्यूएफआई अध्यक्ष और राष्ट्रीय शिविर के कुछ कोचों ने महिला पहलवानों का यौन शोषण किया है। कोई भी इसकी जिम्मेदारी नहीं लेता है। वे पहलवानों को राष्ट्रीय स्तर पर प्रतिबंधित करने की बात करते हैं। डब्ल्यूएफआई अध्यक्ष ने मुझे खोटा सिक्का (बेकार) कहा। मैं आत्महत्या करना चाहती थीं।”

महिला पहलवान ने कहा था, “मैंने आज खुले तौर पर कहा है, मुझे नहीं पता कि मैं कल जीवित रहूंगी या नहीं। हमने कई बार अनुरोध किया है कि कैंप को लखनऊ से हटा दिया जाए। ऐसा केवल वहीं क्यों होता है? क्योंकि उनके लिए शिकार करना आसान है।” विनेश ने कहा कि बृजभूषण शरण सिंह के खिलाफ शिकायत करने पर उन्हें जान से मारने की धमकी मिली थी।



Source link