छत्तीसगढ़

फोटो के लिए पश्चिम बंगाल के राज्यपाल ने सुनील छेत्री को दिया धक्का, खिलाड़ी के अपमान पर भड़के सोशल मीडिया यूजर



शायद ही कोई इस बात से असहमत होगा कि सुनील छेत्री भारत के आज के सर्वश्रेष्ठ फुटबॉलरों में से एक हैं। स्टार फुटबॉलर अर्जेंटीना के लियोनेल मेस्सी और पुर्तगाल के क्रिस्टियानो रोनाल्डो के साथ अंतर्राष्ट्रीय फुटबॉल में सबसे अधिक गोल करने वालों की सूची में है। उनकी कप्तानी में, बेंगलुरु एफसी ने रविवार को कोलकाता में विवेकानंद युवा भारती क्रीरंगन में फाइनल में मुंबई सिटी एफसी को 2-1 से हराकर अपना पहला डूरंड कप खिताब जीता।

हालांकि, पुरस्कार वितरण समारोह के दौरान एक ऐसी घटना हुई, जो कई लोगों को पसंद नहीं आई और जिसने बेंगलुरू एफसी की जीत के जश्न को फीका कर दिया। दरअसल खिताब देने आए पश्चिम बंगाल के राज्यपाल ला गणेशन ने पुरस्कार लेने आए सुनील क्षेत्री को धक्का देकर किनारे कर दिया, क्योंकि वह कैमरे के फ्रेम के सामने आ रहे थे।

सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे घटना के वीडियो में, मणिपुर और पश्चिम बंगाल के राज्यपाल ला गणेशन को मैच के बाद पुरस्कार समारोह के दौरान सुनील छेत्री को ‘धक्का’ देते हुए देखा जा सकता है। दरअसल, खिताब जीतने के बाद जब सुनील ट्रॉफी लेने मंच पर पहुंचे तो गवर्नर ला गणेशन ने फोटो खिंचवाने के लिए उन्हें ‘धक्का’ दे दिया।

घटना के बाद सोशल मीडिया पर राज्यपाल की जमकर आलोचना हो रही है। इस पर पूर्व क्रिकेटर और कमेंटेटर आकाश चोपड़ा ने भी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने लिखा कि यह ‘अपमानजनक’ है।

हैरान करने वाली बात ये है कि अवॉर्ड पुरस्कार समारोह के दौरान ऐसा न सिर्फ सुनील के साथ हुआ बल्कि बेंगलुरु एफसी की जीत के हीरो शिव शक्ति के साथ भी हुआ। इन दोनों घटना के वीडियो तेजी से वायरल हो रहे हैं।





Source link