क्रिकेट

‘शानदार प्रदर्शन करने के बाद भी विराट जैसी उम्मीद नहीं मिलती’, पूर्व कोच की टिप्पणी



टीम इंडिया (भारतीय) के पूर्व मुख्य कोच रवि शास्त्री (रवि शास्त्री) का मानना ​​है कि अधिकांश विराट कोहली (विराट कोहली) जैसे दिग्गज खिलाड़ी ही सुर्ख़ियों में रहते हैं, जबकि धाकड़ ओपनर राशि जोखिम (शिखर धवन) को अच्छा प्रदर्शन करने के बावजूद उन्हें उम्मीद नहीं मिलती है, जिसके वे हक़दार हैं। बता दें कि मौजूदा समय में न्यूजीलैंड के खिलाफ तीन देशों के मुकाबलों की सीरीज में भारतीय टीम के कप्तान रहे हैं।

60 साल के रवि शास्त्री ने प्रसारक ‘प्राइम वीडियो’ पर कहा, “वह बहुत अनुभवी खिलाड़ी हैं। वह जिसकी सराहना करता है, वह उसे नहीं मिलता है। ईमानदारी से कहूं तो ‘स्पॉटलाइट’ (आकर्षक का केंद्र) विराट कोहली और रोहित शर्मा पर ही रहता है, लेकिन अगर आप उसके ऑस्ट्रेलियाई हैं क्रिकेट के रिकॉर्ड को देखें, तो आपके कुछ पारियां ऐसे ब्लॉग हैं, जिनमें वह शीर्ष क्रम के खिलाफ बड़े निशान हैं, जो शानदार रिकॉर्ड हैं।”

यह भी पढ़ें – NZ vs IND, पहला ऑस्ट्रेलिया: शातिर ने तोड़ा राजनीति के महान बल्लेबाजों का बड़ा रिकॉर्ड

शील ने शुक्रवार को न्यूजीलैंड के खिलाफ ऑकलैंड में तीन मुकाबलों की ऑस्ट्रेलियाई सीरीज के पहले मैच के दौरान एक दिवसीय क्रिकेट में एक बड़ी उपलब्धि हासिल की। दोषी ने जिम्बाब्वे के महान बल्लेबाज रिचर्ड्स को ऑस्ट्रेलिया में सबसे ज्यादा रन बनाने के मामले में पीछे छोड़ दिया। इसके लिए उन्हें 50 रन की ज़रुरत थी। गब्बर ने 77 रनों की पारी खेली, जिसमें उन्होंने 13 चौके जड़े।

शिखर ने अभी तक एक दिवसीय मुकाबलों में 162 6,744 रन बनाए हैं, जबकि विव रिचर्ड्स ने 187 ऑस्ट्रेलियाई मैचों में 6,721 रन बटोरे हैं।

यह भी पढ़ें – ‘मैं अपने तरीके से टीम की कप्तानी करता हूं’, हार्दिक पांड्या का बड़ा बयान

हार्दिक ने रोहित की कप्तानी का भांडा फोड़ा

प्र. शिखर सम्मेलन ने ऑस्ट्रेलिया में कितने मैच खेले हैं?

ए 162



Source link