छत्तीसगढ़

ट्विन टावर मामले में विजलेंस की टीम ने शुरू की जांच, नोएडा अथॉरिटी से मांगे सारे रिकॉर्ड



उत्तर प्रदेश के नोएडा में सुपरटेक ट्विन टावर को गिराए जाने के बाद अब लखनऊ विजिलेंस सक्रिय हो गया है। ट्विन टावर मामले में लखनऊ विजिलेंस टीम ने नोएडा प्राधिकरण पहुंचकर मामले की जानकारी ली और कई रिकॉर्ड की मांग की है। सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर बीते 28 जुलाई को सुपरटेक ट्विन टावर को ब्लास्ट कर गिरा दिया गया था।

विजिलेंस टीम ने आज नोएडा प्राधिकरण दफ्तर पहुंचकर नियोजन विभाग से कुछ जानकारियों के साथ चार नक्शे मांगे हैं। टीम ने ट्विन टावर और एमराल्ड कोर्ट के लेआउट से जुड़े 4 नक्शे मांगे हैं। नक्शों से जुड़ी जानकारी देने के लिए प्राधिकरण ने 2 दिन का समय मांगा है।

विजिलेंस ने करीब 11 महीने पहले प्राधिकरण की शिकायत के बाद मामला दर्ज किया था। एफआईआर एसआईटी की जांच रिपोर्ट के आधार पर 4 अक्तूबर 2021 को कराई गई थी। एफआईआर में 24 अधिकारियों के अलावा बिल्डर के 4 पदाधिकारी आरोपी बनाए गए थे।

अधिकारियों में प्राधिकरण के तत्कालीन सीईओ मोहिंदर सिंह का भी नाम आरोपियों में था। एस के द्विवेदी, ओएसडी यशपाल समेत अन्य अधिकारियों का भी इसमें नाम था। एफआईआर दर्ज होने के बाद से अभी तक कोई करवाई शुरू नहीं की गई थी। और न ही किसी से पूछताछ की गई थी।



Source link