ताज़ा खबर

राजीव गांधी आश्रय योजना/मुख्यमंत्री आबादी पट्टा योजना के तहत पट्टाधारियों को भूमिस्वामी हक प्रदाय के लिए लगा मेगा कैंप ,20 अप्रैल को फिर से लगेगा मेगा कैम्प


रायगढ़, 7 अप्रैल 2022/ राजीव गांधी आश्रय योजना/मुख्यमंत्री आबादी पट्टा योजना के तहत् पट्टाधारियों को भूमिस्वामी हक प्रदाय करने के संबंध में आज ऑडिटोरियम पंजरी प्लांट रायगढ़ में एक दिवसीय शिविर/मेगा कैम्प आयोजित किया गया। जिसका 280 लोगों ने लाभ उठाया। मौके पर ही 210 लोगों के आवेदन लेकर कार्यवाही आगे बढ़ाते हुए ईश्तहार जारी करने के लिए प्रक्रिया पूरी की गयी। वहीं 70 लोगों ने भूमि स्वामी हक के लिए आवेदन प्राप्त किया। इस मौके पर हितग्राहियों को लोन उपलब्ध कराने बैंकों के अधिकारी भी मौजूद रहे। जिनके समक्ष 42 हितग्राहियों ने लोन के लिए आवेदन किया।


इस अवसर पर कलेक्टर भीम सिंह ने कहा कि राजीव गांधी आश्रय योजना व मुख्यमंत्री आबादी पट्टा योजना के तहत ऐसे पट्टाधारियों को भूमि का मालिकाना हक प्रदान करने की योजना शासन द्वारा प्रारंभ की गयी है। इसके लिए पट्टाधारियों को वर्तमान गाईड लाईन के आधार पर एक निश्चित राशि देने पर वे भूमि स्वामी हक प्राप्त कर सकते है। इस कैम्प के आयोजन का उद्देश्य ऐसे लोगों को योजना का लाभ देना है। साथ ही यहां बैंकों के द्वारा इच्छुक हितग्राहियों को लोन उपलब्ध कराने की भी व्यवस्था की गयी है।
उल्लेखनीय है की छ.ग.शासन राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग मंत्रालय महानदी भवन अटल नगर रायपुर द्वारा दिये गये निर्देशानुसार राजीव गांधी आश्रय योजना/मुख्यमंत्री आबादी पट्टा योजना के तहत प्रदत्त पट्टे की भूमि का वर्तमान कब्जे के आधार पर पटटेदार राज्य शासन से भूमि स्वामी हक प्राप्त करना चाहता है तो वर्तमान गाईड लाईन पर निर्धारित बाजार मूल्य की 20+2′ राशि देय होगी, यदि पट्टेदार ने अन्य को भूमि अंतरित कर दिया है, तो उक्त कब्जेदार को वर्तमान गाईड लाईन दर पर निर्धारित बाजार मूल्य के 40+2′ राशि जमा करना होगा। पट्टाधारी/ हितग्राही शिविर में ही पट्टे की छायाप्रति व आधार कार्ड की छायाप्रति के साथ आवेदन प्रस्तुत कर योजना का लाभ ले सकते हैं। इस माह की 20 अप्रैल 2022 को पुन: यह मेगा कैम्प लगाया जाएगा। उक्त शिविर में नजूल अधिकारी डिप्टी कलेक्टर श्री रोहित सिंह, डिप्टी कलेक्टर श्री कंवर सहित राजस्व विभाग के कर्मचारी व हितग्राहियों को लोन प्रदाय करने में सहयोग हेतु बैंक के अधिकारी/ कर्मचारी उपस्थित रहे।