पैसा बनाओ

UCO बैंक ने एफडी पर बढ़ाई ब्याज दरें, इस स्मॉल फाइनेंस बैंक ने भी ब्याज दरों में किया बदलाव



हाइलाइट्स

यूको बैंक में 2 करोड़ रुपये से कम के फिक्स्ड डिपॉजिट पर ब्याज दरों में इजाफा.
यूको बैंक की नई दरें 8 नवंबर, 2022 से प्रभावी.
RBI की ओर से रेपो रेट बढ़ाए जाने का असर.

नई दिल्ली. पब्लिक सेक्टर के यूको बैंक (UCO Bank) फिक्स्ड डिपॉजिट यानी एफडी (FD) पर मिलने वाले ब्याज की दरों में 45 बीपीसी यानी 0.45 फीसदी तक बढ़ोतरी की है. बैंक की आधिकारिक वेबसाइट के मुताबिक, यूको बैंक की नई दरें 8 नवंबर, 2022 से प्रभावी होगी.

यूको बैंक ने 2 करोड़ से कम के एफडी पर ब्याज दरों में इजाफा किया है. 7 दिनों से 5 साल और उससे अधिक की अवधि की एफडी पर बैंक अब आम जनता के लिए 2.90 फीसदी से 5.50 फीसदी और वरिष्ठ नागरिकों के लिए 3.15 फीसदी से 6.00 फीसदी तक की ब्याज दर की पेशकश कर रहा है.

शिवालिक स्मॉल फाइनेंस बैंक ने भी ब्याज दरों में किया बदलाव
दूसरी ओर, शिवालिक स्मॉल फाइनेंस बैंक (SFB) के सेविंग्स अकाउंट, फिक्स्ड डिपॉजिट और रेकरिंग डिपॉजिट (RD) की ब्याज दरों में बदलाव किया गया है. बैंक की आधिकारिक वेबसाइट के अनुसार, नई दरें 10 नवंबर, 2022 को प्रभावी होंगी. बदलाव के बाद, बैंक अब सेविंग्स अकाउंट पर अधिकतम 7 फीसदी की ब्याज दर, आरडी और एफडी पर आम ग्राहकों को 7.50 फीसदी तक ब्याज और वरिष्ठ नागरिकों को 8 फीसदी ब्याज मिलेगा.

RBI ने लगातार चौथी बार बढ़ाई है रेपो रेट 
गौरतलब है कि देश में बढ़ती महंगाई रोकने के लिए आरबीआई ने लगातार चौथी बार रेपो रेट बढ़ाई है. अब रेपो रेट 5.90 फीसदी तक पहुंच गई है. बीते 30 सितंबर को आरबीआई की एमपीसी की बैठक में यह फैसला लिया गया है कि लगातार चौथी बार रेपो रेट में 0.50 फीसदी का इजाफा किया जाएगा. अब रेपो रेट 5.40 फीसदी से बढ़कर 5.90 फीसदी कर दिया गया है. इससे पहले, मई में 0.40 फीसदी वृद्धि के बाद जून और अगस्त में 0.50-0.50 फीसदी की वृद्धि की गई थी.

एफडी दरों को बढ़ा चुके हैं कई बैंक
उल्लेखनीय है कि हाल ही में आरबीएल बैंक, एक्सिस बैंक, सीएसबी बैंक लिमिटेड, कोटक महिंद्रा बैंक, केनरा बैंक, इंडियन ओवरसीज बैंक आदि भी अपनी-अपनी एफडी दरों को बढ़ा चुके हैं. दरों में बढ़ोतरी का ये सिलसिला आरबीआई के द्वारा रेपो रेट्स में बढ़ोतरी के बाद शुरू हुआ है.

Tags: Bank FD, FD Rates, Fixed deposits, Money Making Tips, UCO bank



Source link