राष्ट्रीय

ट्विन टावर गिराने वाली टीम ने शुरू किया मलबे का सर्वेक्षण, आसपास की इमारतों का लिया जायजा



उन्होंने कहा कि अभी तक आस-पास की इमारतों को कोई नुकसान नहीं हुआ है, हालांकि, अंतिम अवलोकन बाद में किया जाएगा। ढहाने की कवायद को सुरक्षित रूप से अंजाम देने के लिए ट्विन टावरों के आसपास करीब 500 पुलिस और यातायात कर्मियों को तैनात किया गया था। नोएडा-ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेसवे दोपहर 2.15 से 2.45 बजे के बीच बंद रहा। जबकि शहर में ड्रोन के लिए नो-फ्लाई जोन स्थापित किया गया था।

भारतीय ब्लास्टर चेतन दत्ता के साथ काम करने वाले सहायक विनय सिंह, जिन्होंने विस्फोट के लिए आखिरी बटन दबाया, ने बताया कि ऑपरेशन सफलतापूर्वक पूरा हो गया। उन्होंने कहा कि टावरों के गिरने से आज हमारी महीनों की मेहनत और लगन का सुखद अंत हुआ है।



Source link