अंतराष्ट्रीय

तुर्की ने 18000 से अधिक अफगान प्रवासियों को वापस भेजा, पेरू में खनिकों की झड़प में 14 की मौत



‘समिट ऑफ अमेरिकाज’ से नदारद रहे कई लातिन अमेरिकी देश

अमेरिका में बुधवार को तीन दिवसीय ‘समिट ऑफ अमेरिकाज’ की शुरूआत की गई, लेकिन इस शिखर सम्मेलन में कई महत्वपूर्ण देशों की अनुपस्थिति ने सम्मेलन की सफलता पर प्रश्नचिह्न् लगा दिया है। चीन की संवाद समिति शिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, राष्ट्रपति जो बाइडेन इस सम्मेलन की अगुवाई करेंगे। इस सम्मेलन में आर्थिक विकास, जलवायु परिवर्तन और कोविड-19 महामारी के विषय पर चर्चा होने की संभावना है।

लातिन अमेरिकी देश मेक्सिको, ग्वाटेमाला, होंडुरास और अल सल्वाडोर ने इस सम्मेलन का बहिष्कार कर दिया है तो क्यूबा, वेनेजुएला और निकारागगुआ को खुद अमेरिका ने भी आमंत्रित नहीं किया है। बोलिविया ने भी सम्मेलन में शामिल होने से इनकार कर दिया है। ऊरूग्वे के राष्ट्रपति लुईस लकाले पू कोरोना वायरस संक्रमित होने के कारण इसमें नहीं शामिल होंगे।
मेक्सिको के राष्ट्रपति एंड्रेस मैनुअल लोपेज ओब्राडर ने सोमवार को ही यह कहकर सम्मेलन को विवादों में ला दिया था कि जिस सम्मेलन में अमेरिका के सभी देश शामिल ही न हों, उसे समिट ऑफ अमेरिकाज नहीं कहा जा सकता है।



Source link