छत्तीसगढ़

उत्तर प्रदेश: सौभाग्य योजना में फर्जी बिजली कनेक्शन का जाल, लेकिन जांच में सामने आने लगे बेशुमार गोरखधंधे



जैसे, गोंडा जिले के झंझरी ब्लॉक के बाबा कुट्टी गांव में झोपड़ी में रह रही सोनी देवी के नाम से कनेक्शन तो जारी कर दिया गया, पर मीटर पड़ोस में पेड़ पर टांग दिया गया। यह भी पता चला कि सोनी को कनेक्शन बिना आवेदन ही जारी कर दिया गया। सोनी देवी जैसे ऐसे तमाम लोग हैं जिनके नाम से एक दो नहीं, तीन-तीन कनेक्शन दिए गए हैं। इसी तरह राजधानी लखनऊ के जैतीखेड़ा के सहोवा इलाके में कमला देवी ने सौभाग्य योजना शुरू होने से पहले ही 1,800 रुपये का भुगतान कर बिजली कनेक्शन लिया था। लेकिन कमला देवी के कनेक्शन को भी सौभाग्य योजना में शामिल कर लिया गया।

लखनऊ की ही ऊषा देवी को भी सौभाग्य योजना में कनेक्शन मिला है। वह बताती हैं कि ‘मीटर और केबल प्राइवेट कंपनी को देना था। 200 रुपये तार के नाम पर ले लिए गए। अभी तक न तो रसीद उपलब्ध कराई गई और न ही कनेक्शन पेपर। ऐसे में बिल का भुगतान नहीं हो पा रहा है।’ बेरली में ईध जागीर गांव की सरोज, पुष्पा और शांति देवी ने पिछले दिनों स्थानीय विधायक से शिकायत की थी कि सौभाग्य योजना के नाम पर दलालों ने 1,000 से 3,000 रुपये ले लिए। अब केबिल चोरी होन के बाद घर अंधेरे में है, पर बिल लगातार आ रहा है।



Source link