Govindram
ताज़ा खबर

कल तक गोविन्द राम दूसरे के पास कर रहा था काम, आज मालिक बन दूसरों को दे रहे रोजगार


रायगढ़, दूसरे के पास टेलर का काम कर रहा था, लेकिन उससे मिलने वाली आय से उनके परिवार का गुजर-बसर बड़ी मुश्किल से हो पा रहा था। उनके मन में एक चिंता थी कि कैसे अपने परिवार को खुशहाल देख पाऊ, इच्छा तो थी कि खुद का दुकान खोलकर टेलरिंग व्यवसाय को विस्तार दूं, लेकिन आर्थिक समस्या आड़े रही थी। तभी शासन की पीएमईजीपी योजना ने श्री गोविन्द राम मेहर के सपने को एक उड़ान दी और आज वह स्वयं एक दुकान का मालिक बन चुके है और अन्य लोगों को रोजगार भी दे रहे है।
विकासखण्ड पुसौर के ग्राम-गूडू, पोस्ट-बाघाडोला निवासी श्री गोविन्द राम मेहर दूसरे के पास टेलर का काम करते थे। जिससे प्राप्त होने वाली आय से उनके परिवार की मूलभूत आवश्यकता की पूर्ति ही बड़ी मुश्किल से हो पाती थी। मन में सपना संजोये गोविन्द राम अपना खुद का दुकान खोलना चाहते थे। जिसके लिए पूंजी की आवश्यकता थी। लेकिन पूंजी की कमी के कारण वह न तो आगे बढ़ पा रहे थे और न ही अपने परिवार के लिए कुछ बेहतर कर पा रहे थे। जिससे उनको हमेशा इस बात की चिंता सताती थी। इसी बीच उन्हें खादी ग्रामोद्योग बोर्ड की योजनाओं का पता चला, जिसके पश्चात वे जिला पंचायत कार्यालय, रायगढ़ जाकर ग्रामोद्योग विभाग से संपर्क किया। विभाग द्वारा उन्हें केन्द्र शासन की प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम (पीएमईजीपी) योजना से संबंधित विस्तृत जानकारी दी गई। जिसके पश्चात उन्होंने रेडिमेड वस्त्र निर्माण इकाई अंतर्गत ऑनलाईन आवेदन किया। उनका आवेदन पर देना बैंक पुसौर द्वारा 5 लाख की स्वीकृति दी गई। जिसमें अन्य पिछड़ा वर्ग होने से उन्हें 35 प्रतिशत की मान से 1.75 लाख रुपये ग्रामोद्योग विभाग से अनुदान प्राप्त हुआ। जिसके पश्चात उन्होंने अपना स्वयं का टेलरिंग शॉप प्रारंभ किया। इस कार्य के प्रारंभ होने से उनके जीवन स्तर में सुधार आया। साथ ही व्यवसाय के विस्तार के साथ काम बढऩे से आज वे अपने साथ ही अन्य तीन लोगों को रोजगार उपलब्ध करा रहे है। निश्चित ही यह योजना उन लोगों के लिए लाभदायक है, जो पूंजी की कमी के कारण खुद का व्यवसाय प्रारंभ नहीं कर पाते है। आज गोविन्द राम मेहर की सफलता को देखकर अन्य लोग भी शासन की इस योजना से जुडऩे लगे है।