पैसा बनाओ

इस सरकारी बैंक में स्पेशल FD स्कीम 31 अक्टूबर को हो रही खत्म, जल्दी करें निवेश



नई दिल्ली. अगर आप उन निवेशकों में से हैं जो बिना रिस्क के तय रिटर्न चाहते हैं तो आप फिक्स्ड डिपॉजिट यानी एफडी (FD) में निवेश कर सकते हैं. वहीं, सार्वजनिक क्षेत्र के इंडियन बैंक (Indian Bank) निवेशकों के लिए एफडी की एक खास स्कीम ऑफर कर रहा है. इस स्कीम का नाम है- इंड उत्सव 610 (IND UTSAV 610). बैंक ने इस स्कीम को 14 सितंबर को पेश किया था. निवेशक इस स्कीम में 31 अक्टूबर तक निवेश कर सकते हैं.

सुपर वरिष्ठ नागरिकों को सालाना 6.5 फीसदी का ब्याज
बैंक इस एफडी स्कीम में बेहतर रिटर्न दे रहा है. इस स्पेशल एफडी स्कीम में मेच्योरिटी पीरियड 610 दिनों की होगी. इस स्पेशल एफडी स्कीम पर आम लोगों को 6.10 फीसदी, वरिष्ठ नागरिकों को 6.25 फीसदी और सुपर वरिष्ठ नागरिकों को सालाना 6.5 फीसदी का ब्याज मिलेगा. यहां सुपर वरिष्ठ नागरिकों का मतलब 80 साल या उससे अधिक आयु के लोगों से है.

ये भी पढ़ें- Explainer : फिक्‍स्‍ड या फ्लोटिंग रेट में किस FD में निवेश करना है बेहतर? किसमें और क्‍यों मिलेगा ज्‍यादा मुनाफा

इंडियन बैंक ने अपनी वेबसाइट पर दी है जानकारी
इंडियन बैंक ने अपनी वेबसाइट पर इंड उत्सव 610 प्लान के बारे में जानकारी दी है. इसमें यह भी बताया गया है कि इस एफडी स्कीम की बुकिंग कैसे की जा सकती है. INDOASIS मोबाइल ऐप के जरिए घर बैठे इस स्कीम में निवेश किया जा सकता है. बिना किसी कागजी कार्यवाही के घर बैठे ऑनलाइन इस एफडी स्कीम के लिए अकाउंट खोला जा सकता है.

RBI ने रेपो रेट 0.5 फीसदी बढ़ाकर 5.9 फीसदी की
हाल ही में आरबीआई ने रेपो रेट 0.5 फीसदी बढ़ाकर 5.9 फीसदी कर दी थी. यह इसका 3 साल का उच्चस्तर है. खुदरा महंगाई को काबू में लाने और विभिन्न देशों के केंद्रीय बैंकों के ब्याज दर में आक्रामक वृद्धि से उत्पन्न दबाव से निपटने के लिए आरबीआई ने यह कदम उठाया है. इससे पहले, मई में 0.40 फीसदी वृद्धि के बाद जून और अगस्त में 0.50-0.50 फीसदी की वृद्धि की गई थी. कुल मिलाकर मई से अब तक आरबीआई रेपो रेट में 1.90 फीसदी की वृद्धि कर चुका है.

FD दरों को बढ़ा चुके हैं कई बैंक
बता दें कि आरबीएल बैंक, आईसीआईसीआई बैंक, एक्सिस बैंक, सीएसबी बैंक लिमिटेड, कोटक महिंद्रा बैंक, केनरा बैंक, इंडियन ओवरसीज बैंक आदि भी अपनी-अपनी फिक्स्ड डिपॉजिट दरों को बढ़ा चुके हैं. दरों में बढ़ोतरी का ये सिलसिला आरबीआई के द्वारा रेपो रेट्स में बढ़ोतरी के बाद शुरू हुआ है.

Tags: Bank FD, FD Rates, Fixed deposits, Indian bank





Source link