छत्तीसगढ़

अर्थ जगत की खबरें: डॉलर के मुकाबले अब तक के सबसे निचले स्तर पर पहुंचा रुपया और मंदी की आहट से शेयर बाजार धड़ाम



यूएस फेड के चेयरमैन जेरोम पॉवेल द्वारा मुद्रास्फीति पर काबू पाने के लिए और अधिक दरों में बढ़ोतरी की बात करने के बाद सोमवार को बेंचमार्क इंडेक्स तेजी से नीचे आ गए।

करीब सेंसेक्स 861.25 अंक या 1.46 प्रतिशत की गिरावट के साथ 57,972.62 पर और निफ्टी 246 अंक या 1.40 प्रतिशत की गिरावट के साथ 17,312.90 पर बंद हुआ। लगभग 1,455 शेयरों में तेजी आई, 2,045 शेयरों में गिरावट आई और 203 शेयरों में कोई बदलाव नहीं हुआ।

एचसीएल टेक्नोलॉजीज, इंफोसिस, टेक महिंद्रा सोमवार को 3 फीसदी से अधिक लुढ़के। बीएसई लार्जकैप 1.24 फीसदी, बीएसई मिडकैप और बीएसई स्मॉलकैप क्रमश: 0.80 फीसदी और 0.57 फीसदी नीचे थे।

कोटक सिक्योरिटीज लिमिटेड के हेड ऑफ इक्विटी रिसर्च (रिटेल), श्रीकांत चौहान ने कहा, “सप्ताह की शुरुआत के लिए निवेशकों को पहले ही मंदी का पता चल गया था। शुक्रवार को यूएस फेड के अध्यक्ष के भाषण के बाद मुद्रास्फीति पर काबू पाने के लिए आगे दरों में बढ़ोतरी के बारे में बात की गई थी और जैसा कि अपेक्षित था, सेंसेक्स शुरुआती कारोबार में लगभग 1,500 अंक गिर गया।”



Source link