stock market 12 9
पैसा बनाओ

बाजार में जारी रहेगा ‘Bulls’ का दबदबा? अगले सप्ताह ये अहम फैक्टर तय करेंगे मार्केट की चाल



हाइलाइट्स

अमेरिका और चीन से आए जॉब और इंफ्लेशन डेटा पर बाजार का रिएक्शन देखने को मिलेगा.
अगले सप्ताह कोल इंडिया, टाटा मोटर्स, एलआईसी और महिंद्रा एंड महिंद्रा तिमाही नतीजे पेश करेगी.
टेक्निकली और डेरिवेटिव डेटा के अनुसार बाजार मजबूत स्थिति में हैं.

मुंबई. शेयर बाजार में तेजी का सिलसिला जारी है. शुक्रवार 4 नवंबर को सप्ताह के आखिरी कारोबारी सत्र में निफ्टी और सेंसेक्स बढ़त के साथ बंद हुए. लेकिन क्या अगले सप्ताह भी बाजार पर बुल्स का दबदबा रहेगा. कल यानी सोमवार को मार्केट किन स्तरों पर खुलेगा और पूरे सप्ताह बाजार की चाल कैसी
रहेगी ये कुछ अहम ग्लोबल और घरेलू फैक्टर्स पर निर्भर करेगा.

अर्निंग सीजन में कंपनियों के अनुमान के मुताबिक आने वाले नतीजों और मजबूत आर्थिक संकेतों से बाजार में निवेशक बेहद खुश हैं. 4 नवंबर को घरेलू बेंचमार्क इक्विटी सूचकांकों में लगभग 2 प्रतिशत की वृद्धि हुई. सप्ताह के दौरान निफ्टी 50 इंडेक्स 1.9 फीसदी चढ़ा जबकि बीएसई-सेंसेक्स 1.6 फीसदी की बढ़त के साथ बंद हुआ. इस दौरान बैंकिंग सेक्टर और मिडकैप शेयर में अच्छी तेजी देखने को मिली. वहीं, निफ्टी फार्मा इंडेक्स में

यूएस जॉब डेटा
ग्लोबल संकेतों के लिहाज से अमेरिका में नॉन-फार्म पैरोल डेटा एक मजबूत ट्रिगर साबित होगा.
इस डेटा के अनुसार, अमेरिकी अर्थव्यवस्था ने अक्टूबर महीने के दौरान 261,000 नौकरियां जोड़ीं, जो वॉल स्ट्रीट की अपेक्षा से ज्यादा थी. इसके बाद अमेरिकी बाजारों में जबरदस्त तेजी देखने को मिली.

ये भी पढ़ें- बाजार पर लौटा विदेशी निवेशकों का भरोसा, नवंबर के पहले हफ्ते में ही किया बंपर निवेश

विदेशी निवेशकों की खरीदारी
इमर्जिंग मार्केट के तौर पर उभर रहे भारतीय बाजारों में पिछले कुछ हफ्तों में विदेशी निवेश लगातार बढ़ रहा है. भविष्य में ब्याज दरों में बढ़ोतरी के लिए अमेरिकी फेडरल रिजर्व की तीखी टिप्पणी के बावजूद पिछले हफ्ते भारतीय इक्विटी मार्केट में विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों से 2 अरब डॉलर से ज्यादा शुद्ध प्रवाह देखा गया.

सितंबर तिमाही के नतीजे
अर्निंग सीजन के दौरान अगले सप्ताह 85 से अधिक प्रमुख और कई माइक्रोकैप कंपनियां अपनी दूसरी तिमाही के नतीजे घोषित करेंगी. इनमें निवेशकों को कोल इंडिया, टाटा मोटर्स, भारतीय जीवन बीमा निगम और महिंद्रा एंड महिंद्रा के रिजल्ट का इंतजार है. इसके अलावा वन 97 कम्युनिकेशंस यानी पेटीएम, जोमैटो, जुबिलेंट फूडवर्क्स और स्टार हेल्थ इंश्योरेंस जैसी कंपनियां भी अगले सप्ताह अपनी दूसरी तिमाही के नतीजों का ऐलान करेंगे.

यूएस-चाइना इकोनॉमिक डेटा
इस सप्ताह बाजार जिन प्रमुख आर्थिक आंकड़ों पर नज़र रखेंगे, उनमें चीन का अक्टूबर रिटेल इंफ्लेशन डेटा और यूएस वीकली एनिशियली जॉबलेस क्लेम डेटा शामिल है. इसके अलावा, उत्पाद की बढ़ती कीमतों के बीच अर्थव्यवस्था में मांग की गति को मापने के लिए निवेशक यूरोपीय संघ के अक्टूबर खुदरा बिक्री के आंकड़ों पर भी बाजार की नजर रहेगी.

Explainer: पैनी स्टॉक में निवेश करना कितना सही? इसमें पैसे लगाते समय इन बातों का रखें खास ध्यान

बैंकिंग शेयरों की चाल पर नजर
पिछले 15 दिनों में बैंकिंग सेक्टर बाजार में बढ़त बनाए हुआ है. इसलिए उम्मीद है कि बैंक के शेयरों के शेयरों में अगले सप्ताह भी यह तेजी जारी रहेगी. मजबूत क्रेडिट डिमांड से बैंकों के लोन ग्रोथ में साल दर साल करीब 18 फीसदी की वृद्धि हुई है, जो 10 साल में सबसे ज्यादा है. इसी कड़ी में सितंबर तिमाही में भारतीय स्टेट बैंक की ब्लॉकबस्टर कमाई पर भी निवेशकों की प्रतिक्रिया देखने को मिलेगी. SBI ने सितंबर तिमाही में 13,264 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ दर्ज किया है.

F&O डेटा से मिलते संकेत
फ्यूचर एंड ऑप्शन के डेटा के अनुसार, ऑप्शन फ्रंट पर अधिकतम कॉल ओपन इंटरेस्ट 18,500 स्ट्राइक और 19,000 की स्ट्राइक प्राइस पर देखा गया, जबकि 18,400 और 18,500 स्ट्राइक की प्राइस पर सबसे ज्यादा कॉल राइटिंग पर देखने को मिली है. वहीं, पुट साइड पर सबसे ज्यादा ओपन इंटरेस्ट 17,000 स्ट्राइक पर देखा गया. इसके बाद 17,500, 17,800 और 18,000 की स्ट्राइक प्राइस पर ज्यादा पुट राइटिंग देखने को मिली.

Tags: BSE Sensex, Business news, Nifty50, Stock market



Source link