राष्ट्रीय

राजधानी लखनऊ का हाल, विकासनगर में एक महीने से दूषित पानी की स्पलाई, 150 से अधिक लोग हुए बीमार



उत्तर प्रदेश को उत्तम प्रदेश बनाने का दावा करने वाली योगी सरकार में राजधानी लखनऊ के लोगों को साफ पानी तक नसीब नहीं है। आलम यह है कि लोग दूषित पानी पीने से बीमार पड़ने लगे हैं। राजधानी के विकासनगर इलाके में दूषित पानी पीने से 150 से अधिक लोग डायरिया से पीड़ित हैं। पिछले 24 घंटों के दौरान 8 लोगों को अस्पताल में भर्ती किया गया है। जिससे डायरिया से पीड़ित भर्ती मरीजों की संख्या बढ़कर 16 हो गई है।

डॉक्टरों ने बताया कि मरीजों की हालत स्थिर है। निवासियों ने दावा किया है कि एक महीने से अधिक समय से दूषित पानी की आपूर्ति की जा रही है। पानी का रंग पीला आ रहा है और उसमें तेज गंध है।

जल कल विभाग के जूनियर इंजीनियर, सूर्यमणि यादव ने कहा, “हम दूषित पानी के पीछे का कारण तलाश रहे हैं। नाले से गुजरने वाली दो पानी की पाइपलाइनों की आपूर्ति काट दी गई है और दो पानी के टैंकरों को इलाकों में भेजा गया है।”

लखनऊ उत्तर विधायक नीरज बोरा ने घटनास्थल का दौरा किया और स्थिति का जायजा लिया।
जिलाधिकारी सूर्यपाल गंगवार ने भी क्षेत्र का निरीक्षण किया और डायरिया को नियंत्रित करने के लिए नगर निकायों को विशेष अभियान चलाने का निर्देश दिया।

उन्होंने संवाददाताओं से कहा, “जलकल विभाग को समस्या का समाधान होने तक पानी के टैंकर उपलब्ध कराने के निर्देश जारी किए गए हैं, जबकि एलएमसी को क्षेत्र की पूरी तरह से सफाई करने का निर्देश दिया गया है।”

आईएएनएस के इनपुट के साथ



Source link