छत्तीसगढ़

तमिलनाडुः स्टालिन दूसरी बार बने DMK प्रमुख, निर्विरोध चुने गए पार्टी के अध्यक्ष



बैठक में डीएमके के वयोवृद्ध नेता एस. दुरईमुगुआन को पार्टी महासचिव, दिल्ली में डीएमके का चेहरा माने जाने वाले टी.आर. बालू को पार्टी के कोषाध्यक्ष के रूप में फिर से चुना गया। वहीं स्टालिन की छोटी बहन कनिमोझी करुणानिधि को पार्टी का उप महासचिव चुना गया।

फोटोः @arivalayam
फोटोः @arivalayam
user

Engagement: 0

तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एम के स्टालिन रविवार को पार्टी की आम परिषद की बैठक में लगातार दूसरी बार सर्वसम्मति से द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (डीएमके) के अध्यक्ष चुने गए। अध्यक्ष पद के लिए किसी और के चुनाव में नहीं उतरने के कारण स्टालिन इस बार भी निर्विरोध पार्टी प्रमुख बने हैं।

इसके अलावा डीएमके की आम परिषद की बैठक में वयोवृद्ध नेता और राज्य के जल निर्माण मंत्री एस. दुरईमुगुआन को पार्टी महासचिव के रूप में निर्विरोध चुना गया। वहीं दिल्ली में डीएमके का चेहरा माने जाने वाले पूर्व केंद्रीय मंत्री और सांसद टी.आर. बालू को भी बिना किसी विरोध के पार्टी के कोषाध्यक्ष के रूप में फिर से चुना गया।

बैठक में के.एन. नेहरू को पार्टी के मुख्य सचिव के रूप में चुना गया। वहीं स्टालिन ने अपनी छोटी बहन कनिमोझी करुणानिधि को पार्टी के उप महासचिव के पद पर नियुक्त किया है। अन्य उप महासचिव आई. पेरियासामी, ए. राजा, के. पोनमुडी और अंतियूर सेल्वराज हैं।

डीएमके की आम परिषद की बैठक के सभा स्थल में द्रविड़ विचारक ई.वी. रामसामी नायकर या पेरियार, सी.एन. अन्नादुरई और तमिलनाडु के पूर्व मुख्यमंत्री और स्टालिन और कनिमोझी के पिता कलैग्नार करुणानिधि की भव्य तस्वीरें लगाई गई थीं।




Source link