राष्ट्रीय

तमिलनाडु: भारी बारिश से चेन्नई पानी-पानी, शहर में बरसात ने तोड़ा 30 सालों का रिकॉर्ड, राज्य के 9 जिलों में स्कूल बंद



मौसम विभाक के मुताबिक, 1 नवंबर को नुंगमबक्कम में 8 सेंटीमीटर वर्षा दर्ज की गई थी और यह पिछले 30 सालों में पहली बार और पिछले 72 सालों में तीसरा ऐसा रिकॉर्ड है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

Engagement: 0

भारी बारिश के बाद एक बार फिर तमिलनाडु का चेन्नई शहर पानी-पानी हो गया है। बारिश के बाद शहर में कई स्थानों पर भारी जलभराव हो गया है। जलभराव से लोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। चेन्नई में कोलाथुर क्षेत्र से तस्वीरें सामने आई हैं। इस इलाके में चारों तरफ पानी ही पानी नजर आ रहा है। जलभराव के कारण यातायात बाधित भी हुई है।

बारिश और जलभराव के चलते स्कूल बंद

सोमवार रात से ही राज्य के कई जिलों में बारिश हो रही है। आज भी बारिश के आसार हैं। भारी बारिश के चलते स्कूलों को बंद करने का फैसला लिया गया है। बारिश की वजह से तिरुवन्नामलाई, चेन्नई, तिरुवल्लुवर, रानीपेट्टई, कांचीपुरम, चेंगलपेट, वेल्लोर, विल्लुपुरम और थिरुपथुर में 8वीं कक्षा तक के स्कूल आज भी बंद हैं। राज्य के 9 जिलों में मंगलवार को भी स्कूल बंद थे।

चेन्नई में बारिश ने तोड़ा रिकॉर्ड

मौसम विभाग के मुताबिक, प्रदेश के तटीय और कावेरी डेल्टा इलाकों में हल्की से मध्यम बारिश जारी रहने का अनुमान है। तमिलनाडु में 29 अक्टूबर को पूर्वोत्तर मानसून की बारिश शुरू हुई थी। मौसम विभाक के मुताबिक, 1 नवंबर को नुंगमबक्कम में 8 सेंटीमीटर वर्षा दर्ज की गई थी और यह पिछले 30 सालों में पहली बार और पिछले 72 सालों में तीसरा ऐसा रिकॉर्ड है। IMD के अनुसार, 1990 में, चेन्नई में 13 सेंटीमीटर बारिश हुई थी और 1964 में यह 11 सेंटीमीटर थी, दोनों बार यह एक नवंबर को हुई थी।

बारिश के चलेत दो लोगों की हो चुकी है मौत

तमिलनाडु में पूर्वोत्तर मॉनसून की शुरुआत के बाद सोमवार रात से भारी बारिश से संबंधित घटनाओं में दो लोगों की मौत हो चुकी है। 31 अक्टूबर को उत्तरी चेन्नई में एक महिला फूल विक्रेता के ऊपर कंक्रीट से बनी स्लैब के गिरने से उसकी मौत हो गयी। पीड़िता पुलियंथोपे की निवासी थी। पीड़ित महिला शांति हैंडपंप से पानी खींच रही थी तभी हो रही भारी बारिश की वजह से उसके सिर के ऊपर का कंक्रीट का स्लैब टूट कर गिर गया। अस्पताल में डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

शहर में इस दौरान एक अन्य हादसा हुआ। जहां उत्तरी चेन्नई के व्यासरपड़ी में एक 52 वर्षीय ऑटोरिक्शा चालक की करंट लगने से मौत हो गई। पीड़ित ऑटोरिक्शा चालक देवेंद्रन घर की ओर आ रहा था तभी वह पंडाल में लगे हुए खंभे के संपर्क में आ गया और बारिश के कारण करंट फैलने से वह उसके चपेट में आने से उसकी मौत हो गई।




Source link