राष्ट्रीय

सुप्रीम कोर्ट ने गुजरात दंगों से जुड़े 8 केस को किया बंद, काफी ज्यादा वक्त गुजरने का दिया हवाला



बता दें कि गुजरात के गोधरा स्टेशन पर 27 फरवरी 2002 को साबरमती एक्सप्रेस ट्रेन के एक डिब्बे में आग लगा दी गई थी, जिसमें 59 लोग मारे गए थे। ये सभी कारसेवक थे, जो अयोध्या से लौट रहे थे। इसके बाद पूरे गुजरात में दंगे भड़क उठे। इन दंगों में 1,044 लोग मारे गए थे, जिनमें 790 मुसलमान और 254 हिंदू थे। गोधरा, गुलबर्गा सोसाइटी, नरोदा गांव, नरोदा पाटिया, सरदारपुरा, बेस्ट बेकरी, ओडे गांव जैसे महत्वपूर्ण इलाके हैं, जहां दंगाइयों ने सारी हदें पार कर दीं।



Source link