राष्ट्रीय

दिल्ली-NCR में दमघोंटू हवा ने जीना किया दूभर, आज भी वायु गुणवत्ता बेहद खराब श्रेणी में, जानें कहां क्या हाल है?



शून्य और 50 के बीच एक्यूआई को ‘अच्छा’, 51 और 100 के बीच ‘संतोषजनक’, 101 और 200 के बीच ‘मध्यम’, 201 और 300 के बीच ‘खराब’, 301 और 400 के बीच ‘बहुत खराब’, और 401 और 500 के बीच ‘गंभीर’ श्रेणी में माना जाता है।

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

Engagement: 0

दिल्ली की हवा में घुली जहर ने लोगों का जीना दूभर कर दिया है। राजधानी में आज भी वायु गुणवत्ता बेहद खराब श्रेणी में है। दिल्ली में वायु गणवत्ता गंभीर होने की वजह से धुंध छाई है। आलम यह है कि लोगों को आंखों में जलन हो रही है। सांस लेने में दिक्कत हो रही है। एक छात्रा ने बताया, “प्रदूषण की वजह से खांसी और आंखों में जलन होती है। दिल्ली के प्रदूषित होने की वजह से अभी बाहर जाना और खेलना भी बंद किया है।”

दिल्ली के साथ ही एनसीआर में भी बुरा हाल है। दिल्ली से सटे नोएडा में वायु गुणवत्ता बेहद खराब श्रेणी में पहुंच गई है। सिस्टम ऑफ एयर क्वालिटी एंड वेदर फोरकास्टिंग एंड रिसर्च (SAFAR) के अनुसार, दिल्ली में AQI 431 (गंभीर) श्रेणी में है, एयरपोर्ट (T3) क्षेत्र में AQI 453 (गंभीर) श्रेणी में, गुरुग्राम में AQI 478 (गंभीर) श्रेणी में और नोएडा में AQI 529 (गंभीर) श्रेणी में है।

दिल्ली में किन इलाकों में क्या हाल है?

आईटीओ- 413 AQI

आनंद विहार- 411 AQI

नेहरू नगर- 439 AQI

पटपड़गंज- 434 AQI

अशोक विहार- 433 AQI

सोनिया विहार- 459 AQI

जहांगीरपुरी- 456 AQI

विवेक विहार- 440 AQI

नरेला- 464 AQI

वजीरपुर- 449 AQI

जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम- 421 AQI

बवाना- 463 AQI

NCR में कहां क्या हाल है?

नोएडा- 529 AQI

गुरुग्राम- 478 AQI

धीरपुर- 534 AQI

बहादुरगढ़- 430 AQI

चरखी दादरी- 423 AQI

धरुहेरा- 411 AQI

भिवाड़ी- 397 AQI

बल्लभगढ़- 385 AQI

 फरीदाबाद- 380 AQI

भिवानी- 375 AQI

दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण को देखते हुए दिल्ली सरकार ने आज से प्राथमिक स्कूलों को बंद करने का आदेश दिया है। राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग (एनसीपीसीआर) ने हाल ही में दिल्ली सरकार से शहर की वायु गुणवत्ता में सुधार होने तक स्कूलों को बंद करने को कहा था।

 दिल्ली क्षेत्र में ट्रकों की एंट्री पर रोक लगा दी गई है। निजी डीजल वाहन भी नहीं चलाए जाएंगे। केवल इसेंशियल ट्रकों को ही दिल्ली में एंट्री मिलेगी। निजी डीजल वाहनों के इस्तेमाल पर 20,000 का जुर्माना लगाया जाएगा। इसके साथ ही कर्मचारियों को वर्क फ्रॉम होम को लेकर भी एडवाइजरी जारी की गई है।

शून्य और 50 के बीच एक्यूआई को ‘अच्छा’, 51 और 100 के बीच ‘संतोषजनक’, 101 और 200 के बीच ‘मध्यम’, 201 और 300 के बीच ‘खराब’, 301 और 400 के बीच ‘बहुत खराब’, और 401 और 500 के बीच ‘गंभीर’ श्रेणी में माना जाता है।


Published: 05 Nov 2022, 8:41 AM



Source link