Gila2
ताज़ा खबर

सोर्स सेग्रीगेशन से बढ़ेगी निगम की आय मिलेगी आर्थिक मजबूती : लोगों को दी जा रही है समझाइस


रायगढ़। हरा गिला एवं सूखा नीला दो डस्टबिन रखने की सभी शहरवासियों को आदतें डालने पड़ेगी। इससे एक तरह से जहां शहर से निकलने वाले कचरे का वैज्ञानिक तरीके से निष्पादन होगा, वही वेस्ट से वेल्थ की ओर बढ़ने पर निगम की आय में बढ़ोतरी होगी और आर्थिक मजबूती मिलेगी।

Gila1
निगम प्रशासन द्वारा केंद्र सरकार के निर्देश पर एवं आयुक्त श्री संबित मिश्रा के मार्गदर्शन पर हरा गीला सूखा नीला के तहत गीला एवं सूखे कचरे को अलग-अलग रखने व्यवहार परिवर्तन संबंधित अभियान चलाया जा रहे हैं। इसमें स्वच्छता दीदियों द्वारा डोर टू डोर कचरा कलेक्शन के दौरान ही उन्हें सोर्स सेग्रीगेशन की जानकारी दी जा रही है। इस दौरान स्वच्छता दीदियों द्वारा हरा डस्टबिन में क्या-क्या रखने हैं और नीला डस्टबिन में क्या-क्या रखने हैं। इसकी जानकारी भी दी जा रही है। मंगलवार को स्वास्थ्य प्रभारी एमआईसी सदस्य श्री संजय देवांगन ने शहरवासियों से हरा गीला व सूखा नीला डस्टबिन की आदत डालने की अपील की है। इस दौरान उन्होंने कहा कि घर पर ही इस कचरे को दो डस्टबिन में अलग-अलग रखने पर गीला कचरे से खाद बनाया जाएगा। इसी तरह सूखा कचरे का निष्पादन वैज्ञानिक तरीके से किया जाएगा। इससे शहर में कचरे होने की स्थिति नहीं मिलेगी। इससे शहर एक तरफ जहां साफ सुथरा नजर आएगा, वही खाद बनाकर और सूखा कचरे का बेहतर निष्पादन कर वेस्ट से वेल्थ की ओर नगर निगम बढ़ेगा। इससे होने वाली आय से निगम को अतिरिक्त लाभ मिलेगा और निगम की आर्थिक मजबूती भी होगी।

Gila3

सूखा एवं गीला कचरा अलग अलग देने से हमारे सभी वार्डों में डोर टू डोर कचरा कलेक्शन करने वाले स्वच्छता दीदियों की आय भी बढ़ेगी। इस दौरान एमआईसी सदस्य श्री देवांगन ने सभी शहरवासियों से सूखा एवं गीला कचरा को अलग-अलग देने गीला हरा और सूखा नीला की आदत डालने की अपील की।

सिंगल यूज प्लास्टिक पर अब तक 67300 रुपए जुर्माना
सिंगल यूज प्लास्टिक पर निगम के स्वास्थ्य विभाग एवं अमले द्वारा लगातार कार्रवाई की जा रही है। जुलाई से अब तक 64 प्रकरण में 67 हजार ₹300 रुपए का जुर्माना लगाया गया है, वहीं 17 किलो 200 ग्राम सिंगल यूज प्लास्टिक की जब्ती की गई है। निगमायुक्त श्री संबित मिश्रा ने सिंगल यूज प्लास्टिक, कैरीबैग, डिस्पोजल, पानी पाउच आदि का उपयोग नहीं करने और पर्यावरण संरक्षण के लिए सहयोग करने कि शहरवासियों से अपील की है।