राष्ट्रीय

सोनिया गांधी का संदेश- भावना से हर दिन रहूंगी भारत जोड़ो यात्रा का हिस्सा, भारतीय राजनीति में यह एक परिवर्तनकारी क्षण



कांग्रेस की ‘भारत जोड़ो यात्रा’ की औपचारिक शुरूआत कन्याकुमारी से हो गई है। इस अवसर पर कन्याकुमारी में एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम में राहुल गांधी समेत कांग्रेस के लगभग सभी बड़े नेता शामिल हुए। स्वास्थ्य ठीक नहीं होने की वजह से कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी इस कार्यक्रम में शामिल नहीं हुईं, लेकिन उन्होंने यात्रा में शामिल होने वालों के लिए एक संदेश भेजा, जिसे स्टेज से पढ़कर सुनाया गया।

सोनिया गांधी ने अपने संदेश में कहा, ‘कन्याकुमारी से कश्मीर तक की ऐतिहासिक भारत जोड़ो यात्रा शुरू हो रही है। चिकित्सा जांच के कारण मैं ऐस महत्वपूर्ण अवसर पर मैं आपके साथ नहीं हूं। इसके लिए मुझे खेद है।‘

उन्होंने आगे कहा कि ऐसी शानदार विरासत वाली हमारी महान पार्टी- भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के लिए यह एक ऐतिहासिक अवसर है। मुझे विश्वास है कि हमारे संगठन का कायाकल्प होगा। यह भारतीय राजनीति में एक परिवर्तनकारी क्षण भी है।

मैं विशेष रूप से अपने 120 सहयोगियों को बधाई देना चाहती हूं, जो लगभग 3600 किलोमीटर लंबी पूरी पदयात्रा पूरी करेंगे। विभिन्न राज्यों में यात्रा में सैकड़ों और हजारों अन्य लोग शामिल होंगे और मैं उन्हें भी शुभकामनाएं देती हूं।

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि भले ही भारत जोड़ो यात्रा में मैं शारीरिक रूप से शामिल नहीं रहूंगी, लेकिन अपने विचार और भावना से से हर दिन इसका हिस्सा रहूंगी।

गौरतलब है कि कांग्रेस की 3,570 किलोमीटर लंबी भारत जोड़ो यात्रा 12 राज्यों से होकर गुजरेगी। इससे पहले एक वीडियो संदेश में कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने कहा कि यह यात्रा इसलिए जरूरी है क्योंकि देश में नकारात्मक राजनीति की जा रही है और जनता से जुड़े असली मुद्दों पर चर्चा नहीं की जा रही है। उन्होंने कहा कि यात्रा का उद्देश्य महंगाई, बेरोजगारी जैसे जनता से जुड़े मुद्दों पर ध्यान केंद्रित करना है।





Source link