सेक्स रैकेट का पर्दाफाश कर गिरोह के सरगना को गिरफ्तार किया,गरीब परिवार की लड़कियों को नौकरी दिलाने का झांसा देकर दिल्ली बुलाता था.

post

Azaad-bharat/नई दिल्ली: दिल्ली के वसंतकुंज साउथ थाना पुलिस ने 19 मार्च को सेक्स रैकेट का पर्दाफाश कर गिरोह के सरगना को गिरफ्तार किया है। आरोपी 39 वर्षीय प्रेमचंद्र मीतेई दूसरे राज्यों से गरीब परिवार की लड़कियों को नौकरी दिलाने का झांसा देकर दिल्ली बुलाता था। दिल्ली आने के बाद उन्हें फ्लैट में बंधक बनाकर रखता और डरा धमकाकर ग्राहकों से सेक्स के लिए मजबूर करता था। आरोपी यह रैकेट वसंतकुंज साउथ इलाके से चला रहा था।

             पुलिस ने आरोपी की गिरफ्तारी के साथ तीन लड़कियों को भी मुक्त कराया है। वह लड़कियों की आपत्तिजनक तस्वीरें और वीडियो भी बनाता था। आरोपी प्रेमचंद्र मीतेई के पास से तीन मोबाइल, एक लैपटॉप, सात बैंक अकाउंट मिले हैं, जिन्हें सीज किया गया है। इन खातों में साढ़े 22 लाख रुपये के लेनदेन का पता चला है। अतिरिक्त पुलिस आयुक्त दीपक पुरोहित ने बताया कि 19 मार्च को महिपालपुर में अपहरण के संबंध में सूचना मिली। पुलिस डी 6 वसंतकुंज पहुंची, जहां रायपुर छतीसगढ़ की 25 वर्षीय युवती मिली। पीड़िता ने बताया कि नर्मदा अपार्टमेंट वसंतकुंज निवासी ने उसे नौकरी दिलाने के बहाने दिल्ली बुलाया। यहां उसे एक फ्लैट में बंधक बनाकर रखा गया। इसी फ्लैट में असम निवासी एक अन्य युवती भी मिली। उसने बताया कुछ समय पहले फ्लिपकार्ट के लिए ऑनलाइन नौकरी के विज्ञापन के जरिए वह अमित से मिली थी, जिसने उसे जॉब के बहाने बुला लिया। अमित एनसीआर के विभिन्न ग्राहकों को लड़कियां सप्लाई करता था। उसने सैलून में नौकरी दिलाने के बहाने एक अन्य लड़की को भी दिल्ली बुलाया। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

              पुलिस अधिकारी के मुताबिक आरोपी प्रेमचंद से पूछताछ में पता चला कि वह मूलरूप से मणिपुर का रहने वाला है। उसके पास बीएससी और एमबीए की डिग्री भी है। वह ओएलएक्स पर विज्ञापन देता था, जिसमें लड़कियों को दिल्ली-एनसीआर में रिसेप्शनिस्ट, प्राइवेट सेक्रेटरी जैसी आकर्षक नौकरी की पेशकश की जाती थी। दिल्ली आने वाली लड़कियों को वह वसंतकुंज में किराए के अपार्टमेंट में रखता था। इसके बाद उन्हें गुड़गांव और दिल्ली के अलग-अलग इलाकों में सेक्स के लिए भेजता था।

You might also like!



RAIPUR WEATHER