छत्तीसगढ़

महाराष्ट्र के सांगली में 4 साधुओं की पिटाई को लेकर BJP पर भड़की शिवसेना, कहा- नफरत की राजनीति करती है पार्टी



महाराष्ट्र के सांगली में बच्चा चोर होने के शक में 4 साधुओं की जमकर पिटाई की गई। घटना जिले के जाट तालुका के लवंगे गांव की है, यहां यूपी के 4 साधुओं पर लोगों ने धावा बोल दिया, जिसका वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है।

सांगली में साधुओं की पिटाई
सांगली में साधुओं की पिटाई
user

Engagement: 0

महाराष्ट्र के सांगली में बच्चा चोर होने के शक में 4 साधुओं की जमकर पिटाई की गई। घटना जिले के जाट तालुका के लवंगे गांव की है, यहां यूपी के 4 साधुओं पर लोगों ने धावा बोल दिया, जिसका वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है। जिसके बाद पुलिस हरकत में आई है। पुलिस का कहना है कि ये चारों साधु पंढरपुर दर्शन के लिए जा रहे थे। स्थानीय लोग उनका भाषा नहीं समझ पाए और बच्चा चोर होने के शक में पिटाई कर दी। वहीं इस घटना को लेकर शिवसेना ने शिंदे सरकार पर हमला बोला है।

‘दंगा-फसाद और नफरत की राजनीति करती है बीजेपी’

शिवसेना के प्रवक्ता आनंद दुबे ने कहा कि संतों की भूमि पर साधुओं की पिटाई हो रही है और स्थानीय प्रशानस हाथ पर हाथ धरे बैठा है। आजतक की खबर के मुताबिक, उन्होंने कहा कि धर्म के नाम पर लोगों को गुमराह कर वोट बटोरने वाली बीजेपी के एक भी विधायक घटनास्थल पर नहीं गए हैं। इससे साफ है कि बीजेपी सिर्फ दंगा-फसाद और नफरत की राजनीति में विश्वास करती है।

‘हिंदूवादी होने का ढोंग कर रही बीजेपी’

शिवसेना प्रवक्ता ने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि पार्टी सिर्फ हिंदूवादी होने का ढोंग कर रही है। वास्तव में बीजेपी को मतलब सिर्फ सत्ता से है, चाहे यह छल से मिले, बल से या भ्रष्टाचार से, पार्टी किसी भी कीमत पर सत्ता में काबिज होने चाहती है।

बच्चा चोर समझकर साधुओं की पिटाई

न्यूज एजेंसी भाषा कि खबरों के मुताबिक, घटना जाट तहसील के लवंगा गांव में उस समय हुई, जब उत्तर प्रदेश के रहने वाले चार लोग एक कार में कर्नाटक के बीजापुर से पंढरपुर शहर की ओर जा रहे थे। पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि ये लोग सोमवार को गांव के एक मंदिर में रुके थे और मंगलवार को यात्रा शुरू करते समय उन्होंने एक लड़के से रास्ता पूछा, जिससे कुछ स्थानीय लोगों को संदेह हुआ कि वे बच्चों का अपहरण करने वाले आपराधिक गिरोह का हिस्सा हैं। अधिकारी के मुताबिक, “दोनों पक्षों के बीच कहासुनी हुई, जो देखते ही देखते बढ़ गई और स्थानीय लोगों ने साधुओं को कथित तौर पर लाठियों से पीट दिया।” अधिकारी ने कहा कि पुलिस की एक टीम मौके पर पहुंची और पाया कि साधु उत्तर प्रदेश के एक अखाड़े के सदस्य हैं।




Source link