छत्तीसगढ़

यूपी में स्वास्थ्य सेवाओं की बदहाली देखिए! सरकारी अस्पताल में मोबाइल टॉर्च की रोशनी में कराई गई बच्चे की डिलीवरी



जैसे ही यह खबर सुर्खियां बनी सोनभद्र के सीएमओ अशोक कुमार सामने आए और पूरे मामले पर सफाई दे डाली। उन्होंने कहा कि बिजली जाने और जनरेटर चालू करने के बीच के समय में यह डिलीवरी हुई थी। ऐसा आगे न हो इसलिए हमने प्रसव केंद्र में एक इनवर्टर की व्यवस्था कर दी है। यहां सोलर पैनल भी है जो काफी सयम से खराब है जिसकी सूचना अभी मिली है। इसको जल्द ठीक कराया जाएगा। सवाल यह है कि बिजली जाने और जनरेटर चालू करने के बीच में इतना समय लग गया कि बच्चे की डिलीवरी हो गई? सवाल यह भी है कि अगर काफी दिनों से अस्पताल का सोलर पैनल खराब नहीं था तो उसे ठीक क्यों नहीं कराया गया। आखिर इस लापरवाही के लिए कौन जिम्मेदार है?

ये भी पढ़ें: अजब यूपी की गजब कहानी! जिला अस्पताल में मरीजों के बेड पर ‘लेट’ गया कुत्ता, CMO ने कहा- ये बहुत…



Source link