satish kaushhik
छत्तीसगढ़

सतीश कौशिक के आखिरी शब्द! ‘मैं मरना नहीं चाहता, मुझे…’, फार्महाउस में क्या हुआ? मैंनेजर ने रहस्यों से उठाया पर्दा



मैनेजर संतोष राय के मुताबिक, अचानक रात करीब 12.05 बजे सतीश कौशिक जोर-जोर से मेरा नाम पुकारने लगे। संतोष राय ने बताया कि वह भागते हुए सतीश कौशिक के कमरे में पहुंचे और उनसे पूछा क्या हुआ?

फोटो: सोशल मीडिया
फोटो: सोशल मीडिया
user

Engagement: 0

मशहूर अभिनेता और डायरेक्टर सतीश कौशिक के निधन से बॉलीवुड के साथ उनके चाहने वालों में मायूसी है। लोग अभी तक यह समझ नहीं पा रहा हैं कि आखिर एक हंसमुख इंसान अचानक कैसे इस दुनिया को अलविदा कह गया। उनके निधन की खबर को अभी तक लोग स्वीकार नहीं कर पा रहे हैं। हर कोई यह जानना चाहता है कि होली की पार्टी के लिए जिस फार्महाउस में सतीश कौशिक रुके हुए थे वहां क्या हुआ था? निधन से पहले सतीश कौशिक ने क्या कहा था?

अभिनेता सतीश कौशिक के मैनेजर संतोष राय ने ऐसे कई सवालों से पर्दा उठा दिया है। जिस दिन सतीश कौशिक का निधन हुआ था, उस दिन मैनेजर संतोष राय उनके साथ ही थे। संतोष राय ने ईटाइम्स को दिए इंटरव्यू में विस्तार से बताया है कि जिस दिन सतीश कौशिक का निधन हुआ था, उस दिन फार्महाउस में क्या-क्या हुआ था।

रात 11 बजे तक बिलकुल ठीक थे सतीश कौशिक

यह पूछे जाने पर कि अचानक सतीश कौशिक को उस दिन क्या हुआ था? इसपर मैनेजर संतोष राय ने कहा कि सतीश कौशिक ने लगभग 8.30 बजे रात का खाना खाया था। संतोष राय ने बताया कि अगली सुबह 9 मार्च को हमें मुंबई के लिए रवाना होना था। सतीश कौशिक ने मुझसे कहा था कि जल्दी सो जाते हैं, सुबह फ्लाइट लेनी है। इसके बाद मैं बराबर वाले कमरे में सोने चला गया।

मैनेजर संतोष राय बताया कि रात के करीब 11 बजे सतीश कौशिक ने मुझे फोन किया और अपने कमरे में बुलाया। उन्होंने कहा कि संतोष मुझे Wifi का पासवर्ड सेट कराना है। मैं ‘Kaagaz 2’ देखना चाहता हूं, ताकि एडिटिंग का काम देख सकूं। ‘Kaagaz 2’ सतीश कौशिक के डायरेक्शन में बनी फिल्म है। इसकी शूटिंग पूरी हो चुकी है। संतोष राय ने बताया कि सतीश कौशिक ने यह फिल्म देखनी शरू की, तो मैं अपने कमरे में चला गया।

रात करीब 12 बजे अचानक बिगड़ी तबीयत

संतोष राय के मुताबिक, अचानक रात करीब 12.05 बजे वह जोर-जोर से मेरा नाम पुकारने लगे। संतोष राय ने बताया कि वह भागते हुए सतीश कौशिक के कमरे में पहुंचे और उनसे पूछा क्या हुआ? तो उन्होंने कहा कि उन्हें सांस लेने में परेशीनी हो रही है। उन्होंने कहा कि मुझे डॉक्टर के पास ले चलो।

अस्तपातल ले जाते समय तबीतय ज्यादा बिगड़ गई

मैनेजर संतोष राय ने बताया कि इसके बाद मैं ड्राइवर के साथ सतीश कौशिक को डॉक्टर के पास ले जाने लगे। रास्ते में सतीश कौशिक के सीने का दर्द और बढ़ने लगा। दर्द होने पर सतीश कौशिक ने कहा कि हॉस्पिटल जल्दी चलो। इस दौरान सतीश कौशिक ने यह भी कहा कि मैं मरना नहीं चाहता, मुझे बचा लो। इस दौरान सतीश कौशिक अपने मैनेजर से उनकी पत्नी शशि और बेटी वंशिका का ख्याल रखने के लिए भी कहा। मैनेजर संतोष ने बताया कि कार में उनसे सतीश कौशिक ने कहा कि मुझे वंशिका के लिए जीना है। मुझे लगता है मैं नहीं बचूंगा। शशि और वंशिका का ध्यान रखना।

अस्पताल ले जाते समय रिस्पॉन्ड करना बंद कर दिया

मैनेजर ने बताया कि अस्पताल ले जाते समय सतीश कौशिक ने रास्ते में ही रिस्पॉन्ड करना बंद कर दिया था। मैनेजर संतोष ने बताया कि मैंने उन्हें हिलाने की कोशिश की, लेकिन वो मूव नहीं कर रहे थे। मुझे लगा ही नहीं था कि उनका निधन हो गया है, क्योंकि कई बार कार में वह मेरे कंधे पर सिर रखकर सो जाते थे। सतीश कौशिक को जब फोर्टिस हॉस्पिटल लेकर पहुंचे तो वो होश में नहीं थे। हॉस्पिटल में डॉक्टर्स की टीम ने उनका चेकअप किया। लेकिन कुछ देर बाद डॉक्टर्स ने बताया कि वो रिस्पॉन्ड नहीं कर रहे हैं। मैनेजर के मुताबिक, उस समय 12:36 हो रहे थे। मैंने सतीश जी की बहन के बच्चों को फोन करके बुलाया, जो दिल्ली में ही रहते हैं। इसके बाद उनकी पत्नी को फोन किया। हालांकि, संतोष ने सतीश कौशिक की पत्नी को उनके निधन की खबर नहीं दी थी। मैनेजर ने अभिनेता की पत्नी से कहा था कि वह सीरीयस हालते में हैं।




Source link