IMG 20220821 WA0003
ताज़ा खबर

अंधे कत्ल की गुत्थी सुलझाने में सारंगढ़ पुलिस को मिली सफलता….


*रायगढ़* । दिनांक 14.08.2022 को शासकीय लोचन प्रसाद पांडे कॉलेज सारंगढ़ के भृत्य सतीश चंद्र बनज के माध्यम से थाना सारंगढ़ में सूचना मिली कि कॉलेज के पीछे खेल मैदान के पास सीमेंट के बिजली खंबा में अज्ञात महिला उम्र करीब 30-32 वर्ष का शव काला रंग के रबड़ के रस्सी से फांसी लगा पड़ा है । सूचना पाकर सारंगढ़ पुलिस मौके पर पहुंचकर घटनास्थल का निरीक्षण, पंचनामा कार्यवाही उपरांत शव का पोस्टमार्टम कराया गया । डॉक्टर की टीम द्वारा पीएम  रिपोर्ट पर मृतिका के मृत्यु गला दबाकर हत्या करना लेख किए जाने पर प्रकरण में हत्या का अपराध दर्ज कर विवेचना में लिया गया ।

            एसपी श्री अभिषेक मीना द्वारा सारंगढ़ पुलिस एवं साइबर सेल की टीम को अज्ञात मृतिका के वारिसान की पता लगाकर अज्ञात आरोपी की पतासाजी के लिए महत्वपूर्ण दिशा निर्देश दिया गया । सारंगढ़ पुलिस अज्ञात मृतिका के संबंध में इलेक्ट्रॉनिक व प्रिंट मीडिया तथा विभिन्न व्हाट्सएप ग्रुप में मृतिका के फोटोग्राफ्स प्रसारित कर वारिसान की पतासाजी का प्रयास किया गया, साथ ही एसडीओपी सारंगढ़ श्री प्रभात कुमार पटेल के सुपरविजन तथा थाना प्रभारी सारंगढ़ निरीक्षक सीताराम ध्रुव के नेतृत्व में अज्ञात मृतिका एवं आरोपी की पता तलाश हेतु थाना सारंगढ़ के स्टाफ की विशेष टीम बनाकर लगातार पतासाजी किया जा रहा था । इसी दौरान मृतिका की पहचान कमलेश्वरी आदित्य पति डिगेश्वर आदित्य निवासी अडभार चौकी अडभार थाना मालखरौदा जिला जांजगीर- चांपा के रूप में हुआ । मृतिका के परिजनों को तलब कर सारंगढ़ थाना प्रभारी निरीक्षक सीताराम ध्रुव द्वारा विस्तृत पूछताछ कर जानकारी लिया गया ।

   मृतिका के परिजन बताये कि कमलेश्वरी (मृतिका) का मायके ग्राम खरौद थाना शिवरीनारायण जिला जांजगीर-चांपा है, कमलेश्वरी शादी होकर अडभार गई थी । दिनांक 11.08.2022 रक्षाबंधन के दिन कमलेश्वरी अपने पति डिगेश्वर आदित्य के साथ अपने मायके खरौद आई थी । कमलेश्वरी किसी लड़के से मोबाइल पर बातचीत करती थी । इसी बात को लेकर 13.08.2022 को कमलेश्वरी और उसके पति के बीच लड़ाई झगड़ा हुआ था, रात करीब 11:30 बजे कमलेश्वरी का पति डिगेश्वर कमलेश्वरी को मायके में छोड़ कर अपने 3 साल के बेटे को लेकर अपने जीजा विजय आदित्य के घर चला गया । उसके बाद कमलेश्वरी का प्रेमी संदीप आदित्य उर्फ सुशांत उर्फ अंशु आदित्य निवासी किकिरदा थाना बिर्रा जिला जांजगीर- चांपा, ग्राम खरौद आकर अपने मोटरसाइकिल में कमलेश्वरी को बैठाकर कोसीर होते सारंगढ़ शासकीय लोचन प्रसाद पांडे कॉलेज खेल ग्राउंड पहुंचा । कमलेश्वरी उर्फ स्वीटी संदीप आदित्य को अपने साथ ओडिशा ले चलो बोल रही थी । संदीप उसे मैं रायपुर लेकर जाऊंगा मेरा उड़ीसा में कोई नहीं है कहने लगा । कमलेश्वरी के बार-बार ओड़िशा ले जाने की जिद करने पर दोनों के बीच काफी बहस एवं मारपीट हुआ । कमलेश्वरी संदीप को जब मुझे अपने साथ उड़ीसा नहीं ले जा सकते तो मुझे मेरे मायके खरौद से क्यों लाए हो कहकर संदीप के गाल में दो थप्पड़ मारी जिससे संदीप भी कमलेश्वरी के गाल में दो थप्पड़ मारा । कमलेश्वरी में जमीन पर गिर गई तब संदीप अपने मोटरसाइकिल की डिक्की में रखें काला रंग के रबड़ के रस्सी को निकालकर कमलेश्वरी के गले में फंदा बनाकर रस्सी की एक छोर को पैर से दबाकर दोनों हाथ से दूसरे छोर के रस्सी को खींचा जिससे कमलेश्वरी छटपटाई और मर गई । आरोपी संदीप आदित्य कमलेश्वरी की हत्या को फांसी का स्वरूप देने के लिए वहीं सीमेंट के बिजली खम्भा से शव को गले में काले रंग का रस्सी को बांधकर फांसी का फंदा बनाकर लटका दिया और हत्या के बाद आरोपी संदीप आदित्य अपने मोटर साइकल हीरो होंडा नियो काला रंग सीजी 12 ए.वाई. 2499 से अपने घर की किकिरदा चला गया । जहां से पुलिस से बचने रायपुर भाग गया, पुलिस की विवेचना दौरान साइबर टीम एवं मखबिरों की मदद से सारंगढ़ पुलिस की टीम आरोपी के रायपुर में छिपे होने की सूचना पर रायपुर रवाना हुई । दिनांक 19.08.2022 को आरोपी के फैक्ट्री में काम करने की जानकारी पर पुलिस रेड कर आरोपी संदीप आदित्य को हिरासत में लेकर सारंगढ़ लाया गया ।

                आरोपी संदीप आदित्य अपने मेमोरेंडम बयान में बताया कि 3-4 माह पहले कमलेश्वरी से व्हाट्सएप और फेसबुक के माध्यम से प्रेम प्रसंग हुआ था । दिनांक 13.08.2022 को कमलेश्वरी अपने मायके खरौद लेने आने बुलाने पर कमलेश्वरी  को मोटरसाइकिल में बिठाकर सारंगढ़ लाना और कालेज खेल ग्राउंड में हत्या करना कबूल किया है । आरोपी के मेमोरेंडम पर घटना में प्रयुक्त मोटरसाइकिल, एक रेनकोट, दो नग मोबाइल जिसमें चार सिम, 3 मेमोरी कार्ड लगे हुए हैं । *आरोपी संदीप आदित्य उर्फ अंशु आदित्य उर्फ सुशांत पिता सीताराम आदित्य उम्र 25 साल निवासी ग्राम किकिरदा थाना बिर्रा जिला जांजगीर-चाम्पा* के कबूलनामे के बाद को गिरफ्तार कर न्यायिक रिमांड पर भेजा गया है ।  पुलिस अधीक्षक अभिषेक मीना के मार्गदर्शन तथा एसडीओपी सारंगढ़ के मार्गदर्शन पर अंधे कत्ल की गुत्थी सुलझाने तथा आरोपी की पतासाजी, गिरफ्तारी में थाना प्रभारी सारंगढ़ निरीक्षक सीताराम ध्रुव, साइबर सेल प्रभारी उपनिरीक्षक कमल किशोर पटेल तथा सारंगढ़ थाने के सहायक उपनिरीक्षक लक्ष्मण पुरी गोस्वामी, सहायक उप निरीक्षक राजेश यादव, प्रधान आरक्षक धनेश्वर उरांव, राजेश साहू, आरक्षक पुरुषोत्तम राठौर मुकेश चंद्रा, वीरेंद्र सिंह ठाकुर, जयराम साहू, राजेश खड़िया, भवानी शंकर धांगड, गजराज सिदार, भूपेंद्र साहू तथा प्रशांत पंडा (सायबर सेल) की सराहनीय भूमिका रही है ।