वारदात

ऋषिकेशः अंकिता हत्याकांड में BJP नेता का बेटा और 2 अन्य गिरफ्तार, लोगों में आक्रोश, रिजॉर्ट में किया तोड़फोड़



पुलिस को अंकिता के दोस्तों से पता चला है कि रिजॉर्ट के मालिक और मैनेजर द्वारा उस पर किसी स्पेशल गेस्ट को विशेष सेवा देने का दबाव डाला जा रहा था। इसके लिए उसने मना कर दिया था, जिसके बाद वह गायब हो गई। करीब 6 दिन बाद पता चला है कि वह हैवानों का शिकार हो गई है।

फोटोः IANS
फोटोः IANS
user

Engagement: 0

उत्तराखंड के ऋषिकेश के वनन्तरा रिजॉर्ट की रिसेप्शनिस्ट अंकिता भंडारी की हत्या के मामले में पुलिस ने बीजेपी नेता विनोद आर्या के बेटे पुलकित आर्या समेत तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। मामले का मुख्य अभियुक्त और बीजेपी नेता का बेटा पुलकित वनंतरा रिजॉर्ट का मालिक है। इसी ने साथियों के साथ मिलकर अंकिता की हत्या की और शव को नहर में फेंक दिया। पुलिस फिलहाल अंकिता भंडारी का शव खोज रही है।

लक्ष्मणझूला पुलिस ने बीते 5 दिनों से लापता चल रही अंकिता भंडारी मामले का खुलासा कर दिया है। श्रीनगर सीओ श्याम दत्त नौटियाल के अनुसार पुलिस ने रिजॉर्ट के मालिक पुलकित आर्य, मैनेजर अंकित और सौरभ सहित तीन लोगों को अरेस्ट कर लिया है। इन आरोपियों ने खुलासा किया है कि उनके द्वारा अंकिता भंडारी को सुनसान जगह पर ले जाकर शराब पिलाई गई और फिर शराब के नशे में हत्या कर उसका शव नहर में फेंक दिया गया। पुलिस द्वारा अंकिता भंडारी का शव खोजा जा रहा है।

रिजॉर्ट के मालिक पुलकित आर्य, मैनेजर अंकित और सौरभ ने पूछताछ में कई राज उगले हैं, जिसके बाद पुलिस ने मामले का खुलासा किया है। सूत्रों के अनुसार लड़की के दोस्तों से हुई बातचीत में पता चला है कि रिजॉर्ट के मालिक और एक कर्मचारी द्वारा लड़की को किसी स्पेशल गेस्ट को विशेष सेवा ऑफर करने का दबाव डाला जा रहा था। इसके लिए अंकिता ने मना कर दिया था, जिसके बाद वह गायब हो गई। करीब 6 दिन बाद पता चला है कि अंकिता हैवानों की हैवानियत का शिकार हुई है। अंकिता के व्हाट्सएप चैट से भी कई खुलासे हुए हैं।

वहीं वनंतरा रिसोर्ट के कर्मचारी के अनुसार 18 सितंबर को शाम छ: बजे के आसपास पुलकित एक घंटे तक अंकिता के रूम में था। इस दौरान अंकिता रो रही थी और हेल्प-हेल्प चिल्ला रही थी। उसके बाद पुलकित, अंकित और सौरभ उसे दुपहिया में बैठाकर ऋषिकेश की ओर ले गये और जब वापस आये तो अंकिता उनके साथ नहीं थी। चीला बैराज की सीसीटीवी फुटेज चेक की गई है, जो अंकिता केस को सुलझाने में अहम कड़ी साबित हुई है।

बता दें कि ग्राम श्रीकोट, पट्टी नादलस्यूं, पौड़ी गढ़वाल निवासी 19 वर्षीय अंकिता भंडारी की गुमशुदगी के सम्बन्ध में राजस्व पुलिस चौकी उदयपुर तल्ला में 6 दिन पहले मुकदमा पंजीकृत हुआ था। जिलाधिकारी पौड़ी गढ़वाल द्वारा उपरोक्त मुकदमा 22 सितम्बर को राजस्व पुलिस से थाना लक्ष्मणझूला पुलिस को स्थानान्तरित किया गया, जिसके बाद मामले में लक्ष्मणझूला पुलिस ने बड़ी कार्रवाई की है।

उधर अंकिता भंडारी हत्याकांड से लोगों में आक्रोश है। आक्रोशित ग्रामीणों ने रिजॉर्ट तोड़फोड़ करते हुए आग लगाने की कोशिश की है। ऐसे में मौके पर मौजूद भारी पुलिस बल ने बमुश्किल ग्रामीणों को रोका है। खबर आ रही है कि ग्रामीणों ने पुलकित आर्य को कोर्ट ले जा रही पुलिस की गाड़ी को रोककर उसमें भी तोड़फोड़ की और साथ ही आरोपियों की पिटाई भी की है। बेटी की हत्या की खबर के बाद परिजनों का रो रोकर बुरा हाल है। वे न्याय की गुहार लगा रहे हैं।

बता दें कि वनंतरा रिजॉर्ट का मालिक पुलकित आर्य बीजेपी के वरिष्ठ नेता विनोद आर्य का बेटा है, जो उत्तराखंड सरकार में राज्य मंत्री रह चुके हैं।। यह पुलकित आर्य लॉकडाउन में भी विवादों में आया था। जब उत्तर प्रदेश के विवादित नेता अमरमणि त्रिपाठी के साथ उत्तरकाशी में प्रतिबंधित क्षेत्र में पहुंच गया था। अमरमणि त्रिपाठी पर मधुमिता शुक्ला की हत्या का आरोप है। मधुमिता शुक्ला की हत्या के आरोप में अमरमणि त्रिपाठी 14 साल तक जेल में रहा है।




Source link