अंतराष्ट्रीय

पाकिस्तान के पूर्व पीएम इमरान खान पर जानलेवा हमले की पूरी कहानी, पढ़िए बचाने वाले की जुबानी



पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान पर हुए जानलेवा हमले के बाद पूरे देश में बवाल खड़ा हो गया है। देशभर में विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं। इस बीच उस शख्स का बयान सामने आया जिसने इमरान खान की जान बचाई। यह वही शख्स है, जिसने पीछे से हमलावार की बंदूक को पकड़कर नीचे कर दिया, जिसकी वजह से हमलावर का निशाना चूक गया और इमरान खान के पैर में गोली लग गई। बताया जा रहा है कि इसके बाद हमलावर ने मौके से भागने की कोशिश की, लेकिन उसे पकड़ लिया गया।

इमरान खान को बचाने वाले शख्स ने पाकिस्तान की मीडिया को बताया, “मैंने जब हमलावर को देखा तो वह फायरिंग करने की कोशिश कर रहा था। इससे पहले की वह हमला कर पाता, मैंने उसे जोर से धक्का दिया। उसने गन फेंकी और वहां से भागने लगा। मैं भी उसके पीछा भागा और उसे पकड़ लिया। उसने आगे कहा कि जब तक हम जिंदा हैं खान साहब (इमरान खान) के ऊपर आंच भी नहीं आ सकती।”

इमरान खान पर कब और कैसे हमला हुआ?

इमरान खान गुरुवार को वजीराबाद में एक रैली को संबोधित कर रहे थे। इस दौरान उनके ऊपर जानलेवा हमला हुआ। रैली में एक शख्स ने इमरान खान पर फायरिंग की, जिसमें इमरान खान घायल हो गए। उनके अलावा 9 और लोग घायल हुए हैं। पुलिस ने हमलावर को गिरफ्तार कर लिया है। हमलावर ने अपना गुनाह भी कबूल लिया है।

हमलावर ने पूछताछ में क्या बताया?

पुलिस की पूछताछ में हमलावर ने बताया कि इमरान खान और उनकी पार्टी द्वारा अजान के समय लाउडस्पीकर बजाया जा रहा था। हमलावर को इस बात से भी नाराजगी थी कि इमरान खान जनता को गुमराह करने का काम कर रहे हैं। यही वजह है कि हमलावर ने रैली में ऑटोमैटिक राइफल से ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी, जिसमें इमरान खान को पैर में गोली लगी, वहीं कई लोग घायल हो गए।



Source link