राष्ट्रीय

योगी के नक्शेकदम पर पुष्कर धामी, जल्द ‘भगवामय’ होगा देहरादून का पलटन बाजार, स्मार्ट सिटी पर चढ़ेगा रंग



पलटन बाजार के भगवाकरण पर कांग्रेस ने बीजेपी सरकार को आड़े हाथों लिया है। कांग्रेस का आरोप है कि बीजेपी अब बाजारों को भी भगवा करने की साजिश रच रही है। जनता सड़कों के गड्ढों से परेशान है। लेकिन बीजेपी केंद्र की योजना के बहाने बाजारों के भगवाकरण में लगी है।

फोटोः IANS
फोटोः IANS
user

Engagement: 0

उत्तराखंड में बीजेपी की पुष्कर धामी सरकार भी यूपी की योगी सरकार के नक्शेकदम पर चल पड़ी है। दरअसल राजधानी देहरादून का सबसे प्रमुख मार्केट पलटन बाजार जल्द ही भगवामय होने जा रहा है, क्योंकि स्मार्ट सिटी के तहत यहां की सभी दुकानों के बोर्ड को भगवा रंग में किया जा रहा है। सिर्फ बोर्ड ही नहीं बाजार की सभी दुकानों के आगे शेड को भी भगवा रंग में रंगा जाएगा।

स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के जरिए राजधानी देहरादून को व्यवस्थित बनाने की कोशिश की जा रही है। इसमें दून का सबसे पुराना और बड़ा पलटन बाजार भी शामिल है, जहां रोज सैकड़ों लोग अपनी रोजमर्रा की जरूरतों को पूरा करने के लिए पहुंचते हैं। वैसे तो अब ये स्मार्ट सिटी की योजना के काम की धीमी गति शहरवासियों के लिए अब किसी नासूर से कम नहीं है। लेकिन अब एक ओर नए विवाद ने जन्म ले लिया है।

दरअसल, ये नया विवाद है पलटन बाजार को भगवा रंग देने का। जिसमें व्यापारियों की दुकानों पर लगने वाले छज्जे और नेम प्लेट को भगवा किया जाएगा। हाल ही में व्यापारियों के साथ नगर निगम की बातचीत के दौरान यह निर्णय लिया गया था कि दुकानों के आगे नेम प्लेट को ऑरेंज कलर दिया जाएगा। जिस पर सफेद रंग से व्यापारी का नाम दर्ज होगा। यही नहीं, हर दुकान के ऊपर छज्जा भी इसी ऑरेंज कलर से रंगा जाएगा।

मेयर सुनील उनियाल और विधायक खजान दास ने पलटन बाजार में निर्माण होने जा रहे छज्जों का निरीक्षण भी किया। साथ ही ये निर्देश भी दिए कि 2 महीने में सुनिश्चित हो की बाजार के सभी छज्जों का निर्माण पूरा हो जाए। इस दौरान मेयर सुनील उनियाल गामा और विधायक खजान दास ने व्यापारियों से चर्चा कर छज्जों के विषय पर आवश्यक निर्देश स्मार्ट सिटी के अधिकारियों को दिए। उन्होंने यह भी निर्देश दिए कि छज्जों के अक्षर हिंदी में रहेंगे और दुकान का नाम और आवश्यक जानकारी बोर्ड के मध्य में आएंगे।

केंद्र की महत्वकांशी योजना के नाम पर खास रंग को विशेष पहचान से जोड़कर एक नए विवाद को जन्म दे दिया गया है। राजधानी देहरादून में स्मार्ट सिटी के काम यूं तो पहले ही विवादों में रहे हैं। पलटन बाजार के भगवाकरण को लेकर अब कांग्रेस ने भी सरकार को आड़े हाथों लेना शुरू कर दिया है। कांग्रेस का आरोप है कि बीजेपी अब बाजारों को भी भगवा करने की साजिश रच रही है। जनता सड़कों के गड्ढों से परेशान है। लेकिन बीजेपी की सरकार केंद्र की योजना के बहाने बाजारों के भगवाकरण का काम कर रही है।

हालांकि, नगर निगम में बीजेपी का बोर्ड है और इसमें बीजेपी के ही मेयर सुनील उनियाल गामा काबिज हैं। लिहाजा ऐसे में भगवाकरण को लेकर कांग्रेस का सवाल उठाना लाजिमी है। दूसरी ओर नगर निगम के मेयर सुनील उनियाल गामा का कहना है कि भगवा कलर करने का यह निर्णय व्यापारियों और सभी अधिकारियों के साथ बैठकर लिया गया है। सभी ने सर्वसम्मति से इसी रंग को लेकर अपनी सहमति जताई है।

स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट में सुस्त गति को लेकर अब तक अधिकारियों को फटकार लगाने वाले और नाराजगी जताने वाले शहरी विकास मंत्री प्रेमचंद अग्रवाल फिलहाल पलटन बाजार में दुकानों के शेड और नेम प्लेट पर लगने वाले ऑरेंज रंग को लेकर अनभिज्ञ हैं। शहरी मंत्री प्रेमचंद अग्रवाल से जब पूछा गया कि स्मार्ट सिटी परियोजना के अंतर्गत ऑरेंज कलर यानि भगवा कलर किया जा रहा है। तो उस पर उनका जवाब था कि उनको इस बात की कोई जानकारी नहीं है।




Source link