राष्ट्रीय

महारानी एलिजाबेथ के अंतिम संस्कार में शामिल होंगी राष्ट्रपति द्रैपदी मुर्मू, भारत की ओर से पेश करेंगी संवेदना



ब्रिटेन की दिवंगत महारानी और राष्ट्रमंडल राष्ट्रों की प्रमुख एलिजाबेथ द्वितीय का 8 सितंबर को 96 वर्ष कीआयु में निधन हो गया। उनके निधन पर ब्रिटेन के साथ भारत में भी शोक की लहर दौड़ गई। उनके सम्मान में 11 सितंबर को देश में एक दिन का राष्ट्रीय शोक मनाया गया।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

Engagement: 0

राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू 19 सितंबर को लंदन में महारानी एलिजाबेथ द्वितीय के राजकीय अंतिम संस्कार में शामिल होंगी और भारत का प्रतिनिधित्व करेंगी। महारानी एलिजाबेथ के निधन पर भारत सरकार की ओर से संवेदना व्यक्त करने के लिए मुर्मू 17 से 19 सितंबर तक लंदन के दौरे पर रहेंगी।

विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने भारत की संवेदना व्यक्त करने के लिए 12 सितंबर को नई दिल्ली में ब्रिटिश उच्चायोग का दौरा किया। भारत ने रविवार (11 सितंबर) को एक दिन का राष्ट्रीय शोक भी मनाया। विदेश मंत्रालय ने ब्यान में कहा, “महामहिम महारानी एलिजाबेथ द्वितीय के 70 वर्षो के शासनकाल में, भारत-ब्रिटेन के संबंध बहुत विकसित और मजबूत हुए हैं। उन्होंने राष्ट्रमंडल के प्रमुख के रूप में दुनिया भर के लाखों लोगों के कल्याण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।”

ब्रिटेन की पूर्व राष्ट्राध्यक्ष और राष्ट्रमंडल राष्ट्र की प्रमुख महारानी एलिजाबेथ का 8 सितंबर को निधन हो गया। राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू, उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़ और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने महारानी एलिजाबेथ के निधन पर शोक व्यक्त किया था। वहीं विपक्ष की ओर से कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी महारानी के निधन पर शोक व्यक्त किया था।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने ट्वीट में कहा कि, “महामहिम महारानी एलिजाबेथ द्वितीय को एक दिग्गज हस्ती के रूप में याद किया जाएगा। उन्होंने अपने देश और लोगों को प्रेरक नेतृत्व प्रदान किया। उन्होंने सार्वजनिक जीवन में गरिमा और शालीनता का परिचय दिया। उनके निधन से दुखी हूं।”




Source link