वारदात

2024 लोकसभा चुनाव में BJP को झटका देने की तैयारी! बिहार में तीन बड़े नेताओं की बैठक, जानें क्या है इसके मायने



तेलंगाना के मुख्यमंत्री के.चंद्रशेखर राव बुधवार को बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव से मुलाकात करने पटना पहुंच रहे हैं। उनके बिहार आगमन को 2024 के लोकसभा चुनाव से पहले एक बड़े राजनीतिक घटनाक्रम के रूप में देखा जा रहा है। एनडीए से अलग होने के बाद केंद्र से बीजेपी को हटाने के लिए यह उनकी पहली बैठक होगी।

केसीआर का आना नीतीश कुमार और तेजस्वी यादव के लिए भी एक उपलब्धि है, जो बीजेपी से मुकाबले के लिए सभी विपक्षी नेताओं को एक छतरी के नीचे लाने के लिए हर संभव प्रयास कर रहे हैं। उनका बिहार के दो नेताओं के साथ एक कार्यक्रम में भाग लेने का भी प्लान है। इससे पहले, तेजस्वी यादव केसीआर से हैदराबाद में दो बार मिले थे, जब वो बिहार विधानसभा में विपक्ष के नेता थे।

वह केसीआर को विपक्षी खेमे में लाने के लिए पुरजोर कोशिश कर रहे हैं क्योंकि वह देश के एक वरिष्ठ नेता हैं और राजनीतिक और सामाजिक हलकों के सभी वर्गों में उनका बहुत सम्मान है। वर्तमान में बिहार, पश्चिम बंगाल, तेलंगाना, छत्तीसगढ़, राजस्थान, पंजाब, दिल्ली, केरल, झारखंड और अन्य राज्यों के मुख्यमंत्री बीजेपी सरकार के खिलाफ हैं और लोकसभा चुनाव में भगवा पार्टी को हराने की कोशिश कर रहे हैं।

तेजस्वी यादव और जेडीयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजीव रंजन सिंह उर्फ ललन सिंह ने बिहार में तैयारी शुरू कर दी है और यहां की सभी 40 सीटों पर बीजेपी को हराने का ऐलान कर दिया है।
पश्चिम बंगाल एक और राज्य है जहां मुख्यमंत्री ममता बनर्जी भगवा पार्टी के खिलाफ डटकर मुकाबला करेंगी।

आईएएनएस के इनपुट के साथ



Source link