छत्तीसगढ़

सैफई पहुंचा मुलायम सिंह का पार्थिव शरीर, चारों ओर दौड़ी शोक की लहर, सीएन योगी ने दी श्रद्धाजंलि



सपा संरक्षक और यूपी के तीन बार मुख्यमंत्री रहे मुलायम सिंह यादव के पार्थिव शरीर का अंतिम संस्कार चंदन की लकड़ी से होगा। इत्र नगरी कन्नौज से लकड़ी और फूल लेकर समाजवादी व्यापार सभा के प्रदेश कोषाध्यक्ष सैफई पहुंच गए हैं।

फोटोः IANS
फोटोः IANS
user

Engagement: 0

दिग्गज राजनेता और समाजवादी पार्टी के संस्थापक मुलायम सिंह का पार्थिव शरीर देर शाम उनके पैतृक गांव सैफई पहुंच गया। मुलायम का नश्वर शरीर सैफई पहुंचते ही चारों ओर शोक की लहर दौड़ गई। सीएम योगी आदित्यनाथ ने भी सैफई पहुंचकर मुलायम सिंह को श्रद्धांजलि दी। इस मौके पर यूपी सरकार के मंत्री स्वतंत्र देव सिंह और बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष भूपेंद्र सिंह चौधरी भी मौजूद रहे।

मुलायम सिंह के निधन के बाद उनके बेटे अखिलेश यादव एंबुलेंस से पार्थिव शव लेकर सैफई पहुंचे। सैफई गांव में मुलायम की एक झलक पाने के लिए सपा समर्थकों और ग्रामीणों का हुजूम उमड़ पड़ा। मुलायम सिंह का पार्थिव शरीर सैफई स्थित घर पर रखा गया है। यहां मुलायम सिंह के अंतिम दर्शन करने के लिए लोगों का आना शुरू हो गया है।

गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल से मुलायम सिंह यादव का पार्थिव शरीर यमुना एक्सप्रेस वे होते हुए सैफई के लिए ले जाया गया है। इस दौरान जब शव यात्रा मथुरा के मांट और बाजना से गुजरी तो वहां पहले से मौजूद लोगों की भीड़ ने अपने नेता को अंतिम विदाई दी। इसके बाद यात्रा आगरा के खंदौली टोल प्लाजा पर पहुंची। यहां पहले भी पहले से ही बड़ी संख्या में सपा कार्यकर्ताओं और लोगों की भीड़ जमा हुई थी। शव यात्रा को देख लोगों की आंखे नम हो गईं।

मुलायम सिंह यादव के निधन से देश भर में उनके समर्थकों और पार्टी लाइन से ऊपर उठकर विभिन्न राजनीतिक विचारधाराओं से जुड़े राजनीतिक-सामाजिक कार्यकर्ताओं में शोक की लहर है। सुबह निधन की सूचना मिलने पर सीएम योगी ने फोन पर अखिलेश यादव से बात कर प्रदेश सरकार की ओर से अपनी शोक संवेदनाएं व्यक्त की। देर शाम मुख्यमंत्री सैफई पहुंचे और मुलायम सिंह के पार्थिव शरीर के समक्ष प्रधानमंत्री और प्रदेश सरकार की ओर से पुष्प चक्र अर्पित किये। यहां उन्होंने शोक संतप्त परिवार के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त करते हुए मंगलवार को होने वाले अंतिम संस्कार के लिए अधिकारियों को दिशा-निर्देश दिये।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि सपा नेता के निधन पर पूरा प्रदेश शोकाकुल है। मुलायम सिंह यादव जुझारू और संघर्षशील नेता थे। समाजवादी विचारधारा से जुड़े एक महत्वपूर्ण स्तंभ थे। वे संघर्षों में तपे-बढ़े और पांच दशक तक प्रदेश की राजनीति के केंद्र बिंदु थे। देश और प्रदेश की राजनीति में एक महत्वपूर्ण भूमिका का निर्वहन उन्होंने लंबे समय तक किया। यूपी विधानसभा और विधानपरिषद में लंबे समय तक नेतृत्व करने के साथ ही तीन बार प्रदेश के मुख्यमंत्री के रूप में यूपी जैसे राज्य को नेतृत्व प्रदान किया। देश की संसद में सात बार प्रतिनिधित्व किया और भारत के रक्षामंत्री के रूप मे देश की सेवा की है।

मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि राज्य शासन ने मुलायम सिंह यादव के दु:खद निधन पर तीन दिन के राजकीय शोक की घोषणा की है। उत्तर प्रदेश सरकार की ओर से राजकीय सम्मान के साथ उनके अंतिम संस्कार की कार्रवाई के लिए अधिकारियों को निर्देश दिया गया है। इससे पहले प्रदेश सरकार की कैबिनेट बैठक में पूर्व सीएम मुलायम सिंह यादव के निधन पर शोक व्यक्त किया गया। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में कैबिनेट मंत्रियों ने दिवंगत मुलायम सिंह यादव को श्रद्धांजलि अर्पित कर शोक संतप्त परिवार के प्रति संवेदना व्यक्त की है। सरकार की ओर से कैबिनेट के सभी प्रस्ताव को फिलहाल के लिए स्थगित कर दिया है।

सपा संरक्षक और यूपी के तीन बार मुख्यमंत्री रहे मुलायम सिंह यादव के पार्थिव शरीर का अंतिम संस्कार चंदन की लकड़ी से होगा। इत्र नगरी कन्नौज से लकड़ी और फूल लेकर समाजवादी व्यापार सभा के प्रदेश कोषाध्यक्ष सैफई पहुंच गए हैं।




Source link