पैसा बनाओ

Muhurat Day Closing Bell: सेंसेक्स 525 अंक चढ़ा, 17,700 के पार बंद हुआ निफ्टी



हाइलाइट्स

मुहूर्त ट्रेडिंग में सेंसेक्‍स 525 अंक बढ़कर बंद
दिवाली के दिन 10 वर्षों में 7 बार मुनाफे में रहा है बाजार
मुहूर्त ट्रेडिंग एक प्रतीकात्मक और पुरानी परंपरा है

मुंबई. देशभर में आज दिवाली का त्‍योहार धूमधाम से मनाया जा रहा है. वैसे तो आज शेयर बाजार में अवकाश है, परंतु मुहूर्त ट्रेडिंग (Muhurat Trading) के रूप में शेयर बाजार में एक घंटे का विशेष कारोबारी सेशन आयोजित हुआ. मुहूर्त ट्रेडिंग के दिन शेयर बाजार हरे निशान पर बंद हुआ. कारोबार के अंत में सेंसेक्स (Sensex) 524.51 अंक यानी 0.88 फीसदी की बढ़त के साथ 59,831.66 के स्तर पर बंद हुआ. वहीं निफ्टी (Nifty) 154.45 अंक यानी 0.88 फीसदी की बढ़त के साथ 17,730.75 के स्तर पर बंद हुआ.

शेयर बाजार पिछले 6 दिनों से बढ़त के साथ बंद हो रहा है. 21 अक्टूबर को आखिरी कारोबारी दिन सेंसेक्स 100 अंकों से ज्यादा की बढ़त के साथ 59307 के स्तर पर बंद हुआ था. निफ्टी भी बढ़त के साथ 17576 के स्तर पर बंद हुआ था. बाजार जानकारों का कहना है कि 17500-17400 पर निफ्टी के लिए अच्‍छा सपोर्ट दिख रहा है.

ये भी पढ़ें- दिवाली से पहले बाजार ने किया निवेशकों को मालामाल, अब अगले हफ्ते कैसी होगी मार्केट की चाल, क्या कहते हैं एक्सपर्ट

मुहूर्त ट्रेडिंग को निवेशक मानते हैं इसे शुभ
बता दें कि मुहूर्त ट्रेडिंग एक प्रतीकात्मक और पुरानी परंपरा है जिसे ट्रेडिंग कम्युनिटी ने पिछले 100 सालों से अधिक समय से बनाए रखा है और इसे हर साल मनाते हैं. ऐसी मान्यता है कि ‘मुहूर्त’ के दौरान लेन-देन करना शुभ होता है और यह वित्तीय समृद्धि लाता है.

पिछले 10 साल मुहूर्त ट्रेडिंग पर कैसा था बाजार
एक रिपोर्ट के मुताबिक, पिछले 10 वर्षों में 7 बार मूहुर्त ट्रेडिंग के दिन शेयर बाजार हरे निशान में बंद हुआ है. पिछले 4 वर्षों से तो लगातार शेयर बाजार मुहूर्त ट्रेडिंग के दिन मुनाफे के साथ बंद हुआ है. पिछले साल 2021 में सेंसेक्स और निफ्टी करीब 0.5 फीसदी चढ़कर बंद हुए थे. इस बार भी निवेशकों को उम्‍मीद है कि बाजार में तेजी ही रहेगी.

तीसरी तीमाही में चीन की जीडीपी ग्रोथ रेट 3.9% रही
तीसरी तीमाही में चीन की इकोनॉमी की ग्रोथ रेट (जीडीपी ग्रोथ रेट) 3.9 फीसदी रही है. सोमवार को जारी आधिकारिक आंकड़ों से यह जानकारी मिली. ये आंकड़े अनुमान से बेहतर रहे हैं. कल आए चीन के जीडीपी आंकड़े अपने निर्धारित समय से 6 दिन बाद प्रकाशित हुए हैं. बता दें कि एएफपी के सर्वे में शामिल एक्सपर्ट्स के पैनल ने अनुमान लगाया था कि तीसरी तिमाही में चीन की जीडीपी ग्रोथ रेट 2.5 फीसदी रह सकती है.

Tags: BSE, Money Making Tips, Nifty, NSE, Sensex, Share market, Trading



Source link