राष्ट्रीय

मोदी सरकार ने चीन को सौंप दी 1000 वर्ग किलोमीटर जमीन, अपने इलाके में गश्त तक नहीं कर पा रही सेना: कांग्रेस



श्रीनेत ने मोदी सरकार से सवाल कि क्या भारतीय सेना पेट्रोलिंग प्वाइंट -14 गलवान घाटी में, पेट्रोलिंग प्वाइंट-15 हॉट स्प्रिंग्स में, पेट्रोलिंग प्वाइंट-17 गोगरा में आज गश्त कर सकती है? क्योंकि अप्रैल 2020 के पहले हम यहां पर गश्त कर रहे थे। लेकिन मोदी सरकार ने 1000 वर्ग किलोमीटर जमीन चुपचाप चीन को सौंप दी। उन्होंने पूछा कि डेप्सांग और डेप्चांग को लेकर सरकार की क्या नीति है? अरुणाचल में चीन एक गांव बसा देता है, हमारे नागरिकों का अपहरण कर लेता है, अतिक्रमण करता है, सरकार का मौन क्यों है? कांग्रेस ने सवाल किया कि आखिर मोदी जी वो लाल आंखें कब खोलेंगे, या चीनी प्रेम में आप वो लाल आंखें भी भूल गए हैं और आपकी 56 इंच की तथाकथित छाती कुंद हो गई है। श्रीनेत ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी के झूठे महिमामंडन और फर्जीवाड़े के चलते, जो देश को झेलना पड़ रहा है, जो हमारी सेना के मनोबल को कमजोर करने का काम हो रहा है, उसके बारे में सवाल जरुर पूछे जाएंगे।

श्रीनेत ने सरकार से सवाल किया कि आखिर कैसे एक हजार वर्ग किलोमीटर की जमीन चीन के कब्जे में आ गई? आखिर कैसे पेट्रोलिंग प्वाइंट जहां पर हम गश्त करते थे, हम उससे पीछे हो गए? आखिर क्यों हमारा हिस्सा बफर जोन बन जाता है, चीन को क्यों लगता है कि मोदी जी मान जाएंगे?



Source link