राष्ट्रीय

MCD चुनावः विकास नहीं तो वोट नहीं, बवाना के ग्रामीणों ने किया मतदान का बहिष्कार, कोई काम नहीं होने का लगाया आरोप



स्थानीय निवासियों ने कहा कि पिछले आठ साल में इलाके में कोई सड़क नहीं बनी है, इसलिए वे चुनाव का बहिष्कार कर रहे हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि स्थानीय विधायक ने उन्हें यहां तक धमकी दी है कि अगर उनकी पार्टी को वोट नहीं दिया तो इलाके में कोई विकास नहीं होगा।

फोटोः IANS
फोटोः IANS
user

Engagement: 0

आज एमसीडी चुनाव के दौरान जहां राजधानी दिल्ली के बाकी हिस्से मतदान में व्यस्त थे, वहीं उत्तर पश्चिम जिले के वार्ड नंबर 31 के अंतर्गत आने वाले बवाना के कटेवारा गांव के निवासियों ने चुनाव का बहिष्कार कर दिया। सूत्रों के मुताबिक, वार्ड में करीब 4,400 मतदाता हैं, जिन्होंने आरोप लगाया कि पिछले आठ सालों में क्षेत्र में कोई विकास नहीं हुआ और इसलिए उन्होंने चुनाव का बहिष्कार करने का फैसला किया है।

बवाना के कटेवारा गांव के लोगों का आरोप है कि इलाके के कब्रिस्तान का भी बुरा हाल है। उन्होंने स्थानीय विधायक और पार्षद से कई बार इसकी मरम्मत कराने का आग्रह किया, लेकिन अब तक कोई कदम नहीं उठाया गया है। एक ग्रामीण ने कहा कि क्षेत्र में बुनियादी सुविधाओं के साथ ही कोई खेल परिसर तक नहीं बनाया गया है और इसलिए वे चुनाव के खिलाफ हैं।

स्थानीय निवासी इंदर सिंह ने कहा कि पिछले आठ सालों में इलाके में कोई सड़क नहीं बनी है और इसलिए वह चुनाव का बहिष्कार कर रहे हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि स्थानीय विधायक ने उन्हें यहां तक धमकी दी है कि अगर उन्होंने उनकी पार्टी को वोट नहीं दिया तो इलाके में कोई विकास नहीं होगा।

स्थानीय समाजसेवी संजीव खत्री ने कहा कि क्षेत्र प्रतिनिधि उनकी समस्याओं पर ध्यान नहीं दे रहे हैं। खत्री ने कहा, “सांसद, विधायक और पार्षद सभी गायब हैं। वे हमारे गांव नहीं आते हैं। पिछले आठ साल में कोई विकास नहीं हुआ है, इसलिए हम चुनाव का बहिष्कार करने के लिए मजबूर हैं।”




Source link