राष्ट्रीय

मनीष सिसोदिया के बैंक लॉकर की तलाशी, जानिए CBI को दिल्ली के उपमुख्यमंत्री के लॉकर में क्या मिला?



दिल्ली की चर्चित शराब नीति में गड़बड़ी के मामले को लेकर सीबीआई द्वारा उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के बैंक लॉकर की आज जांच की गई। गाजियाबाद के वसुंधरा सेक्टर 4 की पंजाब नेशनल बैंक में मनीष सिसोदिया का बैंक लॉकर है। इसकी जांच के लिए सीबीआई की टीम बैंक पहुंची। जांच के दौरान बैंक में मनीष सिसोदिया और उनकी पत्नी भी मौजूद रहे। बैंक में सीबीआई के अधिकारियों ने मनीष सिसोदिया के सामने ही उनके लॉकर की जांच की।

लॉकर जांच पर क्या बोले मनीष सिसोदिया?

वहीं इस जांच पर आप के नेता मनीष सिसोदिया ने कहा कि सच की जीत होती है। सीबीआई को लॉकर में से कुछ नहीं मिला है। सीबीआई पर पीएम का दबाव है, किसी तरह से मनीष सिसोदिया को 2 से 3 महीने के लिए जेल डालो। कोई एक पैसे की हेराफेरी नहीं है। उन्होंने कहा कि जांच में मेरा परिवार पाक साफ साबित हुए है। दिल्ली के उपमुख्यमंत्री ने कहा, जैसे मेरे घर से कुछ नहीं मिला वैसे ही मेरे (बैंक) लॉकर से कुछ नहीं मिला। मुझे खुशी है कि प्रधानमंत्री ने मेरे घर पर छापा पड़वाया, मेरे लॉकर की जांच करवाई जिसमें से कुछ नहीं मिला। यह सबूत है कि PM की जांच में मेरा परिवार और मैं पाक साफ निकला।

शराब नीति पर सवालों के घेरे में केजरीवाल सरकार

बता दें कि दिल्ली की अरविंद केजरीवाल सरकार शराब नीति को लेकर सवालों के घेरे में है। उपमुख्मयंत्री मनी सिसोदिया पर गड़बड़ी के आरोप लगे हैं। सीबीआई ने कुछ दिन पहले ही इसी मामले को लेकर दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया के आवास पर छापेमारी की थी। इतना ही नहीं सीबीआई ने इस मामले में पूर्व एक्साइज कमिश्नर अरावा गोपी कृष्णना के आवास समेत 7 राज्यों के 21 ठिकानों पर रेड डाली थी।

एलजी ने की थी सीबीआई जांच की सिफारिश

दरअसल, पिछले दिनों दिल्ली के उपराज्यपाल विनय सक्सेना ने सीबीआई जांच की सिफारिश की थी। एलजी वीके सक्सेना ने मुख्य सचिव की रिपोर्ट के बाद यह कदम उठाया था। इस रिपोर्ट में मनीष सिसोदिया की भूमिका पर भी सवाल उठाए गए हैं। दरअसल, दिल्ली का एक्साइज विभाग मनीष सिसोदिया के अधीन है।



Source link