राष्ट्रीय

महाराष्ट्र राहुल गांधी और ‘भारत जोड़ो यात्रा’ का सोमवार को करेगा स्वागत, हजारों लोग शामिल होंगे



दक्षिण भारत के पांच राज्यों में दो महीने तक पदयात्रा के बाद कांग्रेस सांसद राहुल गांधी के नेतृत्व में ‘भारत जोड़ो यात्रा’ सोमवार की शाम तेलंगाना की सीमा से लगे नांदेड़ जिले के मदनूर नाका के जरिए महाराष्ट्र में प्रवेश करेगी। पार्टी नेताओं ने रविवार को यह जानकारी दी। भारत जोड़ो यात्रा तमिलनाडु के कन्याकुमारी से 7 सितंबर से शुरू हुई थी, जो केरल, कर्नाटक, आंध्र प्रदेश और तेलंगाना होते हुए सोमवार को महाराष्ट्र से मध्य भारत चरण की शुरुआत करेगी। इस पदयात्रा में राहुल गांधी के साथ भारी भीड़ के जुड़ने की उम्मीद है।

राहुल गांधी देगलुर शहर के एक स्थानीय मिल मैदान में रात्रि विश्राम करने के बाद मंगलवार सुबह 14 दिन लंबे राज्य (महाराष्ट्र) चरण की शुरुआत करेंगे। इस दौरान भारत जोड़ो यात्रा मराठवाड़ा-विदर्भ क्षेत्रों के पांच जिलों, 381 किलोमीटर में फैले 6 लोकसभा और 15 विधानसभा क्षेत्रों में जाएगी। भारत जोड़ो यात्रा कार्यक्रम सुबह 6 बजे से चार घंटे और शाम 4.30 बजे से तीन घंटे तक होगा। राहुल और इस यात्रा के समर्थक रोजाना लगभग 22 से 25 किलोमीटर की यात्रा करते हुए गांवों, कस्बों और शहरों में जाएंगे।

केरल के वायनाड के सांसद राहुल, जो पहले से ही अपने डाउन-टू-अर्थ रवैये, अच्छी फिटनेस और तेज चलने की शैली के लिए तारीफें बटोर चुके हैं, वह रास्ते में अलग-अलग जगहों पर दो प्रमुख रैलियों को भी संबोधित करेंगे, जिसमें कांग्रेस नेताओं का कहना है कि राज्यभर से कई लाख लोगों के शामिल होने की उम्मीद है।

महाराष्ट्र में नांदेड़, हिंगोली, वाशिम, अकोला और बुलढाणा जिलों से गुजरने के बाद भारत जोड़ो यात्रा 20 नवंबर को मध्य प्रदेश में प्रवेश करेगा। हालांकि स्थानीय नेताओं की मांगों के बाद कार्यक्रम में बदलाव करने और महाराष्ट्र में पदयात्रा को और तीन दिन बढ़ाने के प्रयास किए जा रहे हैं।

राहुल गांधी जिन दो बड़ी रैलियों को संबोधित करेंगे, वह 10 नवंबर को नांदेड़ में और 18 नवंबर को बुलढाणा में होंगी। इसके अलावा भारत जोड़ो यात्रा के दौरान वह रोजाना छोटी-छोटी बैठकें करते हैं, स्थानीय लोगों के साथ व्यक्तिगत बातचीत करते हैं। पदयात्रा के दौरान वह जनता के साथ घुलना-मिलना, उनकी चिंताओं पर चर्चा करना, मुद्रास्फीति, बेरोजगारी, ईंधन की बढ़ती कीमतों, महिलाओं की सुरक्षा जैसे मुद्दों पर चर्चा जारी रखेंगे।

कांग्रेस, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी और शिवसेना-यूबीटी सहित विपक्षी महा विकास अघाड़ी के शीर्ष नेता अलग-अलग मौकों पर भारत जोड़ो यात्रा में शामिल होंगे। राज्य में मार्च के दौरान 150 से अधिक प्रमुख नेता, नागरिक समाज के सदस्य, कार्यकर्ता, गैर सरकारी संगठन, सामाजिक संगठन और विभिन्न क्षेत्रों की हस्तियां उनके साथ शामिल होंगी।

राहुल गांधी ने 7 सितंबर को तमिलनाडु के कन्याकुमारी से जम्मू-कश्मीर तक 3,570 किलोमीटर लंबी पदयात्रा 150 दिन में पूरी करने का संकल्प लेकर लगातार चल रहे हैं। भारत जोड़ो यात्रा के फरवरी 2023 की शुरुआत में जम्मू-कश्मीर पहुंचने की संभावना है।

आईएएनएस के इनपुट के साथ



Source link