राष्ट्रीय

कर्नाटकः यौन उत्पीड़न के आरोपी लिंगायत संत पर संपत्ति में हेराफेरी का भी आरोप, गिरफ्तारी वारंट जारी



मुरुघा मठ के संत के खिलाफ संपत्ति हेराफेरी के आरोप में साल 2013 में एक निजी शिकायत दर्ज कराई गई थी और कई सम्मन जारी होने के बाद भी अदालत की कार्यवाही में शामिल नहीं होने के लिए अब उनके खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी किया गया है।

फोटोः IANS
फोटोः IANS
user

Engagement: 0

कर्नाटक में दो नाबालिगों के यौन उत्पीड़न के आरोप में गिरफ्तार लिंगायत मठ के संत शिवमूर्ति मुरुघ शरणारू की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं। बेंगलुरु मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट कोर्ट ने शुक्रवार को शिवमूर्ति मुरुघ शरणारू के खिलाफ संपत्ति के हेराफेरी के आरोप में गिरफ्तारी वारंट जारी कर दिया है। पी.एस प्रकाश द्वारा एक निजी शिकायत के बाद यह आदेश पारित किया गया।

पी.एस प्रकाश ने आरोप लगाया है कि टिप्पा सेट्टी मठ की 8 करोड़ रुपये की संपत्ति 49 लाख रुपये में बेची गई है। आरोप है कि बेंगलुरु में केंगेरी के पास सुलिकेरे में स्थित 7.18 एकड़ की संपत्ति को अवैध रूप से, धोखे से और ट्रस्ट को भंग करके बेचा गया था। यह पूरा मामला बड़ी हेराफेरी और धोखाधड़ी का बताया जा रहा है।

लिंगायत संप्रदाय के सबसे ताकतवर मठों में से एक मुरुघा मठ के साधु के खिलाफ संपत्ति हेराफेरी के आरोप में साल 2013 में एक निजी शिकायत दर्ज कराई गई थी और कई सम्मन जारी होने के बाद भी अदालत की कार्यवाही में शामिल नहीं होने के लिए उनके खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी किया गया था।

इस बीच, चित्रदुर्ग के जिला अस्पताल के अधीक्षक डॉ बसवराजू ने कहा कि आरोपी संत को अतिरिक्त इलाज के लिए बेंगलुरु के जयदेव इंस्टीट्यूट ऑफ कार्डियोवैस्कुलर साइंसेज एंड रिसर्च अस्पताल में स्थानांतरित कर दिया जाएगा। ईसीजी जांच ने हृदय में जटिलताओं को दिखाया है। संत ने दो दिनों से दवा नहीं ली है और 10 साल से मधुमेह और रक्तचाप से पीड़ित हैं। उन्होंने कहा कि उन्हें आईसीयू एम्बुलेंस में बेंगलुरु स्थानांतरित किया जाएगा।

इस बीच, कर्नाटक में दलित संगठनों द्वारा मामले में पारदर्शी जांच की मांग को लेकर विभिन्न स्थानों पर विरोध प्रदर्शन किया जा रहा है। शरणारू को गुरुवार रात गिरफ्तार किया गया था और स्थानीय अदालत द्वारा उन्हें 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेजा गया है। आरोपी संत पर पॉक्सो और एससी, एसटी अत्याचार निवारण अधिनियम के तहत आरोप लगे हैं।




Source link