पैसा बनाओ

Investment Tips : 30-40 वर्ष के लोगों को इन वित्तीय गलतियों का भुगतना पड़ता है खामियाजा, कैसे बचें आप?



हाइलाइट्स

लोग 30 की उम्र के बाद भी निवेश की ओर ध्यान नहीं देते हैं.
उनके पास अपना हेल्थ इंश्योरेंस या टर्म इंश्योरेंस नहीं होता है.
आदर्श रूप से लोगों को 25 की उम्र से निवेश शुरू कर देना चाहिए.

नई दिल्ली. 25 साल की उम्र के आसपास लोग आमतौर पर कमाना शुरू करते हैं. उस समय अधिकांश युवाओं को वेतन इतना नहीं होता कि वह बचत करने की बात सोच पाएं. हालांकि 30 वर्ष की आयु पार करने के बाद उनके वेतन में ठीक-ठाक वृद्धि हो जाती है और वे सेविंग्स और निवेश के बारे में सोचना शुरू कर देते हैं. लेकिन अब भी ऐसे लोगों की तादाद बहुत बड़ी है जो 30 के बाद भी इन वित्तीय गलतियों को जारी रखती है.

आज हम आपको इन्हीं गलतियों के बारे में बताएंगे ताकि आप समय रहते हैं इनसे बच जाएं. वरना भविष्य में किसी आर्थिक संकट के समय आपके लिए परेशानियां खड़ी हो सकती हैं. अगर आप चाहते हैं कि रिटायरमेंट के समय आपका एक सुकून भरा जीवन जीएं तो आपको ये गलतियां करने से बचना होगा.

ये भी पढ़ें- रॉकेट की रफ्तार से उड़ रहा दिवंगत राकेश झुनझुनवाला के निवेश वाला ये शेयर, अब भी करा सकता है दोगुना मुनाफा

एसआईपी नहीं करना
इसकी शुरुआत तो कमाई शुरू होने के साथ ही हो जानी चाहिए. लेकिन जैसा कि हमने ऊपर आपको बताया कि उस समय बहुत लोगों का वेतन इस लायक नहीं होता. लेकिन 30 के बाद अनिवार्य रूप से आपको एसआईपी शुरू कर देनी चाहिए. एसआईपी में आप लंबे समय तक निवेश कर के अपने फंड को बढ़ने का मौका देता हैं. आपको बता दें कि एसआईपी शुरुआत करने के लिए अलग-अलग फंड्स में संतुलित तरह से निवेश कर सकते हैं. अलग-अलग फंड्स का तात्पर्य यहां मिड-कैप, लार्ज कैप और स्मॉल कैप फंड्स से है.

पीपीएफ खाता नहीं होना
पब्लिक प्रोविडेंट फंड पर आपको सालाना 7-8 फीसदी का रिटर्न मिलता है. यहां जोखिम भी कम होता है और इसमें निवेश पर आपको टैक्स लाभ भी मिलते हैं. पीपीएफ में किया हुआ निवेश, उसका ब्याज और मैच्योरिटी पर मिलने वाली लंप-सम अमाउंट टैक्स फ्री होता है.

ये भी पढ़ें- रुपया गिरकर सबसे निचले स्‍तर 83.01 के स्‍तर पर हुआ बंद, आज आई 61 पैसे की बड़ी गिरावट

टर्म इंश्योरेंस नहीं होना
एक ऐसा टर्म इंश्योरेंस सब्सक्राइब करना चाहिए जो ग्राहक की मृत्यु के बाद ही उसके नॉमिनी को पैसे ट्रांसफर करे. यानी शुद्ध लाइफ इंश्योरेंस. युवावस्था में टर्म इंश्योरेंस लेने का एक बड़ा फायदा ये होता है कि आपको कम प्रीमियम पर अधिक कवरेज मिलता है. आप टर्म इंश्योरेंस लेने में जितनी देरी करेंगे आपका प्रीमियम उतना बढ़ता जाएगा.

हेल्थ इंश्योरेंस नहीं लेना
अगर आपको कंपनी की ओर ग्रुप हेल्थ इंश्योरेंस मिला भी है तो भी आपको हेल्थ इंश्योरेंस लेना चाहिए. ऐसा नही करना एक बड़ी भूल साबित हो सकती है. कई बार आपका ग्रुप इंश्योरेंस कई बीमारियों को कवर नहीं करता है. साथ ही उसकी कवरेज राशि भी काफी कम होती है जो आजकल की महंगाई को देखते हुए पर्याप्त नहीं है.

निवेश की बजाय बचत करना
लोगों बचत और निवेश को एक ही मानने की भूल कर बैठते हैं. अगर आप किसी बैंक के बचत खाते में पैसा रखेंगे तो आपको सालाना अधिकतम 4 फीसदी का ही ब्याज मिलेगा. जबकि अगर आप इक्विटी या म्यूचुअल फंड में निवेश करते हैं तो आपको महंगाई को मात देने में मदद मिलेगी.

Tags: Business news in hindi, Earn money, Equity scheme, Investment and return, Investment tips, Money Making Tips, Mutual fund, Tips and Tricks



Source link