छत्तीसगढ़

महाराष्ट्र में MNS नेता की गुंडागर्दी, बुजुर्ग महीला दुकानदार से की मारपीट, धकेला, वीडियो वायरल होने पर केस दर्ज



रविवार को हुई घटना के वायरल हो रहे वीडियो में महिला और एमएनएस कार्यकर्ताओं के बीच बहस हुई और जब वह मना करती रही तो अर्गिले उन्हें खींचता है, धक्का देता है, चेहरे पर थप्पड़ और फिर पेट में एक जोरदार मुक्का मारता है। इसके बाद वह फुटपाथ पर गिर जाती हैं।

फोटोः सोशल मीडिया
फोटोः सोशल मीडिया
user

Engagement: 0

मुंबई में महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) के नेता और कार्यकर्ताओं के एक समूह ने गुरुवार को अनुमति के बिना दुकान के बाहर गणेशोत्सव के विज्ञापन बैनर लगाने का विरोध कर रही एक बुजुर्ग महिला के साथ न सिर्फ बदसलूकी की, बल्कि उनके साथ मारपीट करते हुए उन्हें कई बार धक्का देकर गिरा दिया। घटना का वीडियो वायरल होने के बाद नागपाड़ा पुलिस ने एमएनएस कार्यकर्ताओं के खिलाफ असंज्ञेय अपराध दर्ज किया है और आगे की जांच जारी है।

एमएनएस नेता विनोद अर्गिले और अन्य के नेतृत्व में एमएनएस कार्यकर्ताओं ने उनके इनकार से नाराज होकर उन्हें गालियां दीं और फिर उन्हें तब तक पीटा जब तक वह फुटपाथ पर नहीं गिर गईं। प्रकाश देवी के रूप में पहचानी जाने वाली महिला ने कथित तौर पर उन्हें ‘राज ठाकरे के घर के बाहर बैनर लटकाने’ के लिए कहा था और अर्गिले ने दावा किया कि उसने उनकी मेडिकल दुकान के बाहर भी उनके साथ दुर्व्यवहार किया।

रविवार को हुई घटना के वायरल हो रहे वीडियो में महिला और एमएनएस कार्यकर्ताओं के बीच बहस हुई और जब वह मना करती रही तो अर्गिले उन्हें खींचता है, धक्का देता है, चेहरे पर थप्पड़ और फिर पेट में एक जोरदार मुक्का मारता है। इसके बाद वह फुटपाथ पर गिर जाती हैं। घटना का वीडियो वायरल होने के बाद नागपाड़ा पुलिस ने एमएनएस कार्यकर्ताओं के खिलाफ असंज्ञेय अपराध दर्ज किया है और आगे की जांच जारी है।

गुरुवार को अर्गिले ने तर्क दिया कि महिला ने उनके साथ दुर्व्यवहार किया था, लेकिन कहा कि वह मारपीट करने के लिए शर्मिदा है। हालांकि इस घटना ने एक राजनीतिक विवाद को जन्म दे दिया। राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के मुख्य प्रवक्ता महेश तापसे ने बुजुर्ग महिला पर ‘क्रूर हमले’ के लिए एमएनएस की आलोचना की और मांग की कि एमएनएस अध्यक्ष राज ठाकरे को महिलाओं के सम्मान पर अपनी पार्टी के रुख को स्पष्ट करना चाहिए।

तापसे ने कहा, “दिन के उजाले में इस तरह की घटना चौंकाने वाली है और हम इसकी निंदा करते हैं। मुंबई पुलिस को प्राथमिकी दर्ज करनी चाहिए और इसमें शामिल एमएनएस नेताओं और कार्यकर्ताओं के खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए और राज ठाकरे को भी इस मामले में कार्रवाई करनी चाहिए।”

वहीं शिवसेना की पूर्व मेयर किशोरी पेडनेकर ने इस घटना के लिए एमएनएस की आलोचना की और राज ठाकरे से व्यक्तिगत रूप से हस्तक्षेप करने और दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करने का आग्रह किया। एमएनएस दक्षिण मुंबई के कार्यकर्ता केशव मुले और अन्य ने तुरंत अर्गिले से पीछा छुड़ाते हुए कहा कि कथित वीडियो अधूरा है और पार्टी के शीर्ष अधिकारी इस मामले में कार्रवाई करेंगे।




Source link