Kabad2
ताज़ा खबर

‘फाउंडेशन लिट्रेसी एंड न्यूमैरेसी’ जिला स्तरीय कबाड़ से जुगाड़ प्रतियोगिता में 36 प्रतिभागी बच्चों ने दिखाई अपनी रचनात्मक प्रतिभा


रायगढ़,  राज्य परियोजना कार्यालय समग्र शिक्षा रायपुर छत्तीसगढ़ के निर्देशानुसार राष्ट्रीय आविष्कार अभियान के अंतर्गत कबाड़ से जुगाड़ मेले का जिला स्तरीय आयोजन आयोजन किया गया। उक्त आयोजन जिला मुख्यालय रायगढ़ के शासकीय नटवर अंग्रेजी माध्यम स्कूल के सभाकक्ष में जिला शिक्षा अधिकारी श्री बी.बाखला, जिला मिशन समन्वयक समग्र शिक्षा श्री नरेंद्र चौधरी के मार्गदर्शन एवं कबाड़ से जुगाड़ के जिला नोडल अधिकारी श्री आलोक स्वर्णकार के निर्देशन तथा जिला विज्ञान कार्यक्रम प्रभारी श्री शशिकांत बाथम के निर्देशन में आयोजित किया गया। उक्त जिला स्तरीय मेले में रायगढ़ जिले की 09 विकास खंडों से चयनित प्राथमिक स्तर के चार-चार प्रतिभागियों अर्थात कुल 36 प्रतिभागियों ने भाग लिया था। राष्ट्रीय आविष्कार अभियान के अंतर्गत आयोजित इस मेले का मुख्य विषय एफएलएन टीएलएम अर्थात (फाऊंडेशनल लिटरेसी एंड न्यूमैरेसी) था। जिसके अंतर्गत ऐसे टीचिंग लर्निंग मैटेरियल का निर्माण कर प्रदर्शित करना था, जो प्राथमिक स्तर के बच्चों में भाषाई दक्षता एवं गणितीय दक्षता को सुदृढ़ कर सके। राष्ट्रीय आविष्कार अभियान अंतर्गत आयोजित उक्त जिला स्तरीय प्रतियोगिता में बच्चों ने पूरे उत्साह एवं रुचि के साथ सहभागिता दर्ज की तथा कई ऐसे अप्रत्याशित मॉडल का निर्माण कर प्रदर्शित किया जिसने दर्शकों को अचंभित कर दिया।
विदित हो किए उक्त प्रतियोगिता में कुल 09 विकास खंडों से कुल 36 मॉडल प्रस्तुत किए गए। जिला शिक्षा अधिकारी ने बच्चों की तारीफ करते हुए कहा कि लहरों से डरकर नौका पार नहीं होती, मेहनत करने वालों की कभी हार नहीं होती। वहीं जिला मिशन समन्वयक समग्र शिक्षा रायगढ़ श्री नरेंद्र चौधरी ने बच्चों की कल्पनाओं मॉडल के रूप में प्रस्तुतीकरण को खूब सराहा। जिला नोडल अधिकारी श्री आलोक स्वर्णकार ने बच्चों के द्वारा बनाए गए मॉडल को भाषा एवं गणित अध्यापन हेतु प्रेरक बताया और कहा कि इससे बच्चों की कल्पनाशीलता बढ़ती है तथा रचनात्मकता भी बढ़ती है। शासकीय नटवर अंग्रेजी माध्यम विद्यालय रायगढ़ की प्राचार्य श्रीमती रूबी वर्गीस ने बच्चों की तारीफ करते हुए बड़े बच्चों को मॉडल बनाने के लिए प्रेरक बताया।

Kabad1
प्रतियोगिता में निर्णायक मंडल में ये रहे शामिल
राष्ट्रीय आविष्कार अभियान अंतर्गत आयोजित उक्त जिला स्तरीय कार्यक्रम में निर्णायक के रूप में व्याख्याता श्रीमती बाखला, श्रीमती मेघा अग्रवाल, श्रीमती विनीता एकता, श्री राजेंद्र कलेत उपस्थित रहे। जिन्होंने बच्चों द्वारा निर्मित मॉडल का आकलन कर आवश्यक मार्गदर्शन एवं सुझाव दिया। आज के कार्यक्रम में 09 विकासखंडों से आए हुए सभी बच्चों एवं शिक्षकों के विकासखंड नोडल अधिकारी के साथ अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के जिला अध्यक्ष मोहम्मद शेख ताजिम भी कार्यक्रम में शामिल रहे।