छत्तीसगढ़

इलाहाबाद यूनिवर्सिटी में आज फिर छात्रों ने की आत्मदाह की कोशिश, बेतहाशा फीस वृद्धि के खिलाफ तेज हुआ आंदोलन



प्रयागराज में इलाहाबाद यूनिवर्सिटी में 31 अगस्त को फीस में 400 फीसदी तक की वृद्धि की गई थी, जिसके बाद से ही छात्रों ने प्रदर्शन शुरू कर दिया। कई छात्र आमरण अनशन पर भी बैठे हैैं। छात्रों ने कॉलेज प्रशाशन से बढ़ाई गई फीस के आदेश को तत्काल वापस लेने की मांग की है।

फोटोः वीडियोग्रैब
फोटोः वीडियोग्रैब
user

Engagement: 0

उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में इलाहाबाद विश्वविद्यालय में बेतहाशा फीस वृद्धि के खिलाफ छात्रों का प्रदर्शन और तेज हो गया है। मंगलवार को एक बार फिर एक साथ कई छात्रों ने आत्मरदाह की कोशिश करते हुए अपने ऊपर मिट्टी का तेल छिड़क लिया और आग लगाने की कोशिश की। हालांकि समय रहते पुलिस ने उन्हेंट पकड़ लिया। मौके पर मौजूद फायर ब्रिगेड की गाड़ी से केरोसीन में भीगे छात्रों पर पानी की बौछार की गई।

कुलपति कार्यालय के बाहर प्रदर्शन

विश्वविद्याल प्रशासन द्वारा की गई फीस वृद्धि के विरोध में परिसर में आंदोलनरत छात्र अब आर-पार की लड़ाई के मूड में नजर आ रहे हैं। मगंलवार को विश्वेविद्यालय परिसर में फीस वृद्धि के विरोध में दिन भर हंगामा चलता रहा। परिसर में कुलपति कार्यालय के बाहर भी छात्रों ने जमकर हंगामा किया। प्रदर्शन के दौरान कुलपति कार्यालय के भवन के ऊपर एक छात्र रसोई गैस का सिलेंडर लेकर चढ़ गया। छात्र वहां से कूदने या आत्महदाह करने की चेतावनी दे रहा था। पुलिस ने उसे पकड़कर सुरक्षित नीचे उतार लिया है। हालांकि उसे नीचे उतारने में पुलिस के पसीने छूट गए।

इलाहाबाद यूनिवर्सिटी में आज फिर छात्रों ने की आत्मदाह की कोशिश, बेतहाशा फीस वृद्धि के खिलाफ तेज हुआ आंदोलन

एक दिन पहले छात्र ने की आत्मदाह की कोशिश

इलाहाबाद यूनिवर्सिटी में फीस बढ़ोतरी के खिलाफ पिछले करीब 20 दिनों से हंगामा मचा हुआ है। कई छात्र अनशन पर बैठे हैं। सोमवार को बवाल उस समय और ज्यादा बढ़ गया, जब एक छात्र ने खुद पर मिट्टी का तेल छिड़ककर आत्मदाह करने की कोशिश की। अचानक हुए इस घटना से अफरा-तफरी का माहौल हो गया। पुलिस ने किसी तरह छात्र को आत्मदाह से रोका। बाद में उसे पुलिस ने हिरासत में ले लिया। आदर्श भदौरिया नाम के इस छात्र ने आरोप लगाया है कि आंदोलन में शामिल होने के चलते पुलिस उसके परिवार को परेशान कर रही है।

सोमवार को छात्र के आत्मदाह के प्रयास के दौरान पुलिस के साथ हुई झड़प और धक्का-मुक्की में कई छात्र बेहोश हो गए। इन छात्रों को एंबुलेंस से इलाज के लिए अस्पताल भेजा गया। मंगलवार को भी छात्रों के समूह के आत्मदाह की कोशिश के बीच पुलिस के साथ धक्कामुक्की में कई छात्रों को चोट आई है।

आंदोलकारी छात्रों पर यूनिवर्सिटी ने दर्ज कराया केस

दूसरी ओर फीस बढ़ाने के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे इलाहाबाद यूनिवर्सिटी के छात्रों के खिलाफ यूनिवर्सिटी प्रशासन ने शिकंजा कसना शुरू कर दिया है। विरोध-प्रदर्शन में शामिल 15 छात्रों को चुनकर उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई गई है। वहीं, 100 अज्ञात के खिलाफ भी केस दर्ज कराया गया है। शिकायत यूनिवर्सिटी के प्रॉक्टर प्रो. हर्ष कुमार ने कर्नलगंज थाने में दर्ज कराई है।

इस बीच पूरे मामले पर विश्वविद्यालय की पीआरओ जया कपूर ने कहा है कि कई सालों बाद फीस में वृद्धि की गई है। इसकी जरूरत थी। लेकिन यह फीस वृद्धि नए एडमिशन लेने वाले छात्रों के ऊपर लागू होगी। पीआरओ ने कहा कि यह फैसला बहुत सोच समझकर लिया गया है। छात्रों के आंदोलन से पढ़ाई बाधित हो रही है। कुछ छात्रों ने विश्वविद्यालय गेट का ताला तोड़ा था, जिसके लिए उन पर प्रशासन की ओर से कार्रवाई की गई है।

इलाहाबाद यूनिवर्सिटी में आज फिर छात्रों ने की आत्मदाह की कोशिश, बेतहाशा फीस वृद्धि के खिलाफ तेज हुआ आंदोलन

आर-पार की लड़ाई के मूड में छात्र

गौरतलब है कि इलाहाबाद यूनिवर्सिटी में 31 अगस्त को फीस में 400 फीसदी तक की बढ़ोतरी की गई थी। इस फैसले के बाद से ही सैकड़ों छात्रों ने छात्र संघ भवन के सामने प्रदर्शन और अनशन शुरू कर दिया, जो लगातार जारी है। छात्रों ने बढ़ाई गई फीस के विरोध में छात्र संघ भवन से चंद्रशेखर आजाद पार्क तक एक मसाल जुलूस भी निकाला और कॉलेज प्रशाशन से बढ़ाई गई फीस के आदेश को तत्काल वापस करने की मांग की। विश्वविद्यालय प्रशासन और पुलिस ज्यादती से नाराज छात्रों ने आज 12 बजे बड़े प्रदर्शन का आयोजन किया था। इस प्रदर्शन को ‘आर या पार मंगलवार’ नाम दिया गया था।




Source link