ताज़ा खबर

अपनी मांगो को लेकर स्वास्थयकर्मी हडताल पर , हडताल के चलते स्वास्थय सेवाएं ठप्प


छत्तीसगढ़ में स्वास्थ्य कर्मचारी अपनी विभिन्न मांगों को लेकर सोमवार से तीन दिन की हड़ताल पर चले गए हैं। इसके चलते सरकारी स्वास्थ्य सेवाएं ठप हो गई हैं। रायगढ़ में तो मरीजों को अस्पताल से छुट्‌टी तक दे दी गई। यहां इमरजेंसी सेवाएं तक बंद हैं। वहीं जांजगीर में दवा स्टोर में ताले पड़े हुए हैं। ऐसे ही हालात बिलासपुर में हैं। हालांकि यहां इमरजेंसी सेवाएं चालू हैं।

प्रदेश में करीब 25 से 30 हजार स्वास्थ्य कर्मचारी हैं। यह कर्मचारी मंहगाई भत्ता एरियर्स, गृह भाड़ा भत्ता को सातवें वेतनमान के आधार पर पुनरीक्षण सहित अन्य मांगों को लेकर प्रदर्शन कर रहे हैं। इस हड़ताल का आह्वान छत्तीसगढ़ प्रदेश स्वास्थ्य कर्मचारी महासंघ की ओर से किया गया है। इसमें कर्मचारियों के साथ ही स्टाफ नर्स, फार्मासिस्ट, टेक्नीशियन और चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी भी शामिल हैं।

हड़ताल कर रहे स्वास्थ्य कर्मचारियों की मांगे

  • केंद्र के समान 34 प्रतिशत मंहगाई भत्ता और सातवें वेतनमान के अनुसार गृहभाड़ा भत्ता दिया जाए।
  • कर्मचारियों का कहना है कि अभी उन्हें प्रदेश सरकार सिर्फ 17 प्रतिशत महंगाई भत्ता दे रही है।
  • सभी कैडरों की वेतन विसंगति को दूर किया जाए।
  • संविदा प्रथा समाप्त कर नियमित नियुक्ति दें।