छत्तीसगढ़

बिलकिस बानो केस: न्याय को लेकर IIM बैंगलोर के फैकल्टी, स्टाफ ने CJI को लिखी चिट्टी, कहा-सरकार के कृत्य से स्तब्ध



गुजरात सरकार की माफी नीति के तहत पिछले दिनों 15 अगस्त को बिलकिस बानो केस के 11 दोषियों को जेल से रिहा कर दिया था। इस फैसले से पूरा देश सकते में है। वहीं विपक्ष भी लगातार बीजेपी और गुजरात सरकार को घेर रही है। मामला सुप्रीम कोर्ट तक पहुंच चुका है। इस मामले में गुरुवार को सुनवाई भी हुई है।

दूसरी ओर IIM बैंगलोर के फैकल्टी और स्टाफ ने सीजेआई एनवी रमण को खत लिखकर गैंगरेप की पीड़िता बिलकिस बानों के लिए न्याय की मांग की है।

सीजेआई को लिखे पत्र में प्रीमियर बिजनेस स्कूल के वरिष्ठ संकाय सदस्यों सहित 54 हस्ताक्षरकर्ताओं ने कहा कि छूट न केवल न्याय से इनकार है, बल्कि “बिलकिस बानो और उनके परिवार के लिए एक वास्तविक और तत्काल खतरा भी प्रस्तुत करती है।” उन्होंने पत्र में लिखा है कि इन दोषियों के साथ सहानुभूतिपूर्ण व्यवहार चौंकाने वाला है। हम किस तरह के राष्ट्र में बदल रहे हैं।



Source link