छत्तीसगढ़

रुपए की सेहत जल्द सुधरने की उम्मीद नहीं, जानिए कितना नीचे तक गिर सकता है रुपया



सवाल : अगले तीन महीनों में डॉलर के मुकाबले रुपये का सबसे निचला स्तर क्या होगा?

जवाब : 81.50 सबसे निचला बिंदु हो सकता है, क्योंकि डॉलर इंडेक्स का रुझान तेज रहा है। पिछले तीन महीनों में डॉलर 102 डॉलर से 110 डॉलर और रुपया 78.00 से 80.00 डॉलर तक गिर रहा है। यदि यह तेजी की गति को जारी रखता है, तो डॉलर 115 डॉलर के क्षेत्र को छू सकता है और साथ ही रुपया 81.50-82.00 के करीब हो सकता है।

सवाल : वे कौन से घरेलू कारक हैं जो आपको लगता है कि आने वाले महीनों में रुपये पर दबाव डालेंगे?

जवाब : डीआईआई पूंजी बाजार में खरीदार रहे हैं, जिससे रुपये को मदद मिली है। अगर डीआईआई अपने मुनाफे की बुकिंग शुरू करते हैं, तो हम रुपये पर दबाव देख सकते हैं। इसके साथ ही, देश के दक्षिणी हिस्से में भारी बाढ़ से फसलों को नुकसान पहुंचा है, जिससे मुद्रास्फीति पर दबाव बढ़ सकता है, जिससे रुपये पर और दबाव पड़ेगा। इसलिए रुपये के कारोबारियों की फसल की आवक पर पैनी नजर रहेगी। नकारात्मक कच्चे तेल की कीमतें और डॉलर की कीमतों में बढ़ोतरी आने वाले महीनों में रुपये की गति पर प्रमुख भूमिका निभा सकती है।

सवाल : उस दबाव को कम करने का क्या उपाय हो सकता है?

जवाब : रुपये की गिरावट को रोकने के लिए बहुत कुछ नहीं किया जा सकता है, क्योंकि इसका अधिकांश हिस्सा वैश्विक भू-राजनीतिक मुद्दों और डॉलर के तेज उछाल के कारण आया है, जिससे वैश्विक मुद्राओं पर दबाव बढ़ रहा है। आरबीआई केवल रुपये में गिरावट की गति को धीमा कर सकता है, जो चालू वर्ष में उसका रुख रहा है और हम इसे जारी देख सकते हैं।



Source link