वारदात

क्रिकेट और बॉलीवुड का अंडरवर्ल्ड कनेक्शन, दोस्ती से दुश्मनी तक का सफर



ये रिश्ता फिल्म स्टारों के लिए गले की फांस तब बना, जब डॉन के लेफ्ट हैंड, राइट हैंड जैसे लोग वसूली पर उतर आये। यह वसूली प्रोटेक्शन के नाम पर की जाती थी। यह प्रोटेक्शन भी कैसा था कि हम तुम्हें नुकसान नहीं पहुंचायेंगे, इसीलिए पैसे दो, वरना..।

ऐसे में पैसे देने के अलावा कोई विकल्प नहीं बचता था। फिल्म इंडस्ट्री में अंडरवर्ल्ड के मुखबिर थे और जयचंद थे। ये जयचंद गैंग को जानकारी देते थे कि किस स्टार से कितना कमाया है। फिल्म प्रोड्यूसर की भी शामत आई रहती थी। वसूली के रूपये न देने पर वह वरना..वाली गोली भी लगती थी।

ये गोलियां कोई पेशेवर नहीं चलाता था। ये शूटर उत्तर भारत के होते थे और उन्हें पांच हजार रुपये में गोली चलाने के लिए कहा जाता था। शूटर के प्रोफेशनर न होने के कारण धमकी वाली गोली कभी -कभी जानलेवा भी साबित हो जाती थी।



Source link