छत्तीसगढ़

कोलकाता के मोमिनपुर में दो समूहों में झड़प के बाद सांप्रदायिक हिंसा, 30 से अधिक लोग हिरासत में लिए गए



पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता के मोमिनपुर में रविवार रात दो समुदायों के बीच हुई छिटपुट हिंसा सांप्रदायिक झड़प में बदल गई। रविवार की देर रात शुरू हुई और सोमवार सुबह तक जारी रही झड़पों को रोकने के लिए भारी पुलिस दल तैनात किया गया है। झड़प के सिलसिले में 30 से अधिक लोगों को हिरासत में लिया गया है।

स्थानीय निवासियों ने पुलिस को सूचित किया है कि दो समूहों के बीच पहले बहस हुई और फिर झड़प शुरू हो गई। मोमिनपुर और उससे सटे मयूरभंज रोड के कुछ घरों में भी तोड़फोड़ की गई। पुलिस ने स्थिति को नियंत्रित करने की कोशिश की और उस प्रक्रिया में एक पुलिस उपायुक्त सहित कुछ पुलिसकर्मी भी घायल हो गए।

इसके बाद लोगों के एक समूह ने स्थानीय एकबलपुर थाने के सामने धरना भी दिया। हालात को देखते हुए सोमवार को प्रभावित इलाके में जाने की कोशिश कर रहे पश्चिम बंगाल बीजेपी अध्यक्ष और पार्टी सांसद सुकांत मजूमदार को पुलिस दल ने रोक दिया। इस दौरान मजूमदार समेत उनके चार साथियों को हिरासत में ले लिया गया।

पश्चिम बंगाल विधानसभा में विपक्ष के नेता सुवेंदु अधिकारी ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को पत्र लिखकर केंद्रीय बलों के जवानों की तैनाती की मांग की है। उन्होंने सुकांता मजूमदार को हिरासत में लेने और अशांत क्षेत्र में पहुंचने के उनके लोकतांत्रिक अधिकार से इनकार करने वाली शहर की पुलिस की भी आलोचना की। अधिकारी ने कहा कि जितना हो सके कोशिश करें। लेकिन आप बीजेपी को नहीं रोक पाएंगे।



Source link